तैयारी शुरू:मोतीझील से अतिक्रमण हटाने के लिए इस बार पूरी तैयारी के साथ उतरेगा प्रशासन, शुरू होगा अभियान

मोतिहारीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

मोतिझील से अतिक्रमण हटाने के लिए इस बार प्रशासन पूरी तैयारी में है। पक्का स्ट्रक्चर गिराने के साथ अभियान की शुरुआत हो सकती है। सप्ताह के अंत तक अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू होगी। अतिक्रमण हटाने के दौरान किसी तरह की परेशानी न हो। इसके लिए पहले से ही प्लानिंग तैयार की जा रही है। सदर डीसीएलआर को अतिक्रमण हटाने के लिए प्लानिंग तैयार करने को कहा गया है। डीएम एसके अशोक से मिले निर्देश के बाद अपर समाहर्ता शशि शेखर चौधरी ने डीसीएलआर को अतिक्रमण हटाने में सहयोग करने वाले अधिकारियों की सूची बनाने व पुलिस बल की डिमांड करने को कहा है।

साथ ही इस कार्य में सहयोग करने वाले एजेंसी को भी चिन्हित करने को कहा है। उन्हें बुधवार तक यह रिपोर्ट देने को कहा गया है। जिसकी समीक्षा की जाएगी। जरूरत पड़ने पर उसमें अन्य अधिकारियों को भी शामिल किया जाएगा। पुलिस बल मिलते ही अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू होगी। मंगलवार को अपर समाहर्ता शशि शेखर चौधरी ने मोतिहारी सीओ के साथ मोतीझील का नक्शा देख अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू करने की प्लानिंग की। उन्होंने नक्शा में अधिक अतिक्रमित भू-भाग को देखा।

जिसके बाद सीओ को तैयारी शुरू करने का निर्देश दिया। मधुबन छावनी चौक-ब्लॉक रोड में हटेगा अतिक्रमण |मधुबन छावनी चौक से मोतिहारी ब्लॉक होते हुए एनएच में मिलने वाली सड़क से भी अतिक्रमण हटाया जाएगा। इस सड़क की भी मापी कराई जा रही है। मोतिहारी सीओ वीरेंद्र कुमार को सड़क की मापी करने को कहा गया है। सोमवार को उन्होंने अमीन, सीआई, कर्मचारी के साथ सड़क की मापी की। जिसके आधार पर उन्होंने अपनी रिपोर्ट एसी राजस्व को सौंपा है। जिसमें उन्होंने मधुबन छावनी के समीप अतिक्रमण होने की बात कही है।

जिसके आधार पर अपर समाहर्ता ने अतिक्रमणकारी से कागजात उपलब्ध कराने को कहा है। 2013 में अतिक्रमणकारियों को चिन्हित कर प्रशासन ने उनपर अतिक्रमणवाद चलाया था। जिसमें सभी लोग अतिक्रमणकारी पाए गए थे। जिसके बाद कुछ लोगों ने हाई कोर्ट में भी रिट की थी। वहां से भी उन्हें राहत नहीं मिली थी। डीएम कोर्ट से भी मामले की सुनवाई पूरी कर ली गई है। डीएम कोर्ट ने भी अतिक्रमण खाली कराने का आदेश दिया था। 

पूर्व सीओ व 158 लोग हैं अतिक्रमणकारियों की सूची में
अतिक्रमणकारियों की सूची में पूर्व सीओ शिव कुमार शर्मा, अभय कुमार शर्मा, पंडितजी, सुनिल कुमार पांडेय, दिनेश साह, रविंद्र पांडेय, शत्रुघ्न अस्थाना, सुजित कुमार, देवेंद्र कुमार, उमेश कुमार, संजीव साह, सत्यदेव प्रसाद, सत्यदेव चौधरी, मनोज कुमार, पेट्रोल पंप, गायत्री मंदिर, सहदेव सहनी, राम वचन सहनी, लालबाबू सहनी, चीनी मिल, कृष्णा ठाकुर, तिलक ठाकुर, सुरेंद्र ठाकुर, सुनिल ठाकुर, सत्यप्रकाश, जय किशुन ठाकुर, जगन्नाथ ठाकुर, शिवजी ठाकुर, रामेश्वर ठाकुर, बैधनाथ ठाकुर, डॉ तबरेज अजीजी, डॉ रहमान मेडिकल सेंटर, प्रखंड नर्सरी उद्यान, मत्स्य पदाधिकारी, मुन्ना सिंह, हरिशंकर, कृष्ण प्रसाद, राधेश्याम आदि शामिल हैं। 

पक्का स्ट्रक्चर गिराने के साथ अतिक्रमण हटाने के अभियान की शुरूआत होगी। इसके लिए प्लानिंग तैयार की जा रही है। ताकि अभियान के दौरान कोई परेशानी न आए। इससे जुड़े अधिकारियों को तैयारी करने को कहा गया है। जल्द ही अतिक्रमण हटाओ अभियान शुरू होगा।
शशि शेखर चौधरी, अपर समाहर्ता, पूर्वी चंपारण

खबरें और भी हैं...