पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समीक्षा:नल का जल उपयाेग करने वाले नहीं दे रहे अनुरक्षण शुल्क 30 रुपए महीना, जांच कर कटेगा कनेक्शन

मोतिहारी7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
घोड़ासहन में बना नल जल का टावर। - Dainik Bhaskar
घोड़ासहन में बना नल जल का टावर।
  • जिले में 8 लाख हैं नल-जल योजना के उपभोक्ता, अब तक मात्र 17 लाख की हुई वसूली

नल जल योजना को सुचारू रूप से चलाने के लिए प्रत्येक उपभोक्ता से 30 रुपए प्रतिमाह अनुरक्षण राशि की वसूली करनी है। लेकिन उपभोक्ता यह राशि नहीं दे रहे हैं। अब राशि नहीं देने वाले उपभोक्ता का कनेक्शन काटने की कार्रवाई होगी। पंचायती राज विभाग ने नल जल योजना के अनुरक्षण को लेकर निर्देश जारी किया है। विभाग के अनुसार प्रतिमाह प्रत्येक उपभोक्ता से 30 रुपए अनुरक्षण शुल्क वसूलना है। यह राशि वार्ड क्रियान्वयन समिति के खाते में जमा की जाएगी। राशि नहीं देने वालों को वार्ड क्रियान्वयन समिति की सहमति से तीन नोटिस दिया जाएगा। उसके बाद भी राशि जमा नहीं करने पर संबंधित उपभोक्ता का कनेक्शन काट दिया जाएगा। कनेक्शन को पुनः जोड़ने के लिए 300 रुपए दंड लिया जाएगा।

विभाग के निर्देश के अनुरूप जिला पंचायती राज पदाधिकारी ने सभी कार्यपालक पदाधिकारी को निर्देश जारी कर अपने-अपने क्षेत्र में प्रतिमाह अनुरक्षण शुल्क लेने का निर्देश दिया है। जिले में नल जल के उपभोक्ता 820412 हैं। इनमें 735334 की एंट्री आईएमआईएस पर कर ली गई है। शेष उपभोक्ताओं की इंट्री आईएमआईएस पर करने के लिए कार्यपालक सहायकों को सप्ताह भर का समय दिया गया है। एंट्री होने के बाद उपभोक्ताओं का एक डाटा बन जाएगा। उसके बाद उनसे प्रतिमाह अनुरक्षण राशि वसूलने की प्रक्रिया में तेजी आएगी। अब तक मात्र 17 लाख 71 हजार 80 रुपए अनुरक्षण राशि के रूप में वसूली गई है। अनुरक्षण अनुदान की राशि वार्ड क्रियान्वयन समिति को दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...