जागरूकता कार्यक्रम / ग्रामीणों को एईएस, जेई और कोविड-19 सेे बचाव के लिए विस्तार से जानकारी दी गई

जागरूकता कार्यक्रम में शामिल ग्रामीण महिलाएं। जागरूकता कार्यक्रम में शामिल ग्रामीण महिलाएं।
X
जागरूकता कार्यक्रम में शामिल ग्रामीण महिलाएं।जागरूकता कार्यक्रम में शामिल ग्रामीण महिलाएं।

  • शुद्ध पानी का उपयोग व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की गई

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

मोतिहारी. प्रखंड के जोकियारी पंचायत के चिकनी गांव में यूनिसेफ, स्वास्थ्य विभाग की टीम व जीविका के साथ ग्रामीण महिलाओं को एईएस, जेई व कोविड-19 को लेकर जागरूक किया गया। जागरूक करते हुए अधिकारियों ने कहा कि जेई एईएस से बचाव का सबसे बड़ा उपाय जागरूकता ही है। यह बीमारी मुख्य रूप से जल-जमाव मच्छरों के काटने से होती है। घर के आस-पास जल जमाव न होने दें। इससे बचाव के लिए शुद्ध पानी का प्रयोग करें। बीस लीटर पानी में एक गोली कोलाइन डालकर आधे घंटे बाद उस पानी का सेवन करें। पानी को ढक कर रखें। आज कोविड 19 सभी जगहों पर फैल रहा है। इससे डरने की जरूरत नहीं है। इसके प्रति जागरूक रहने की जरूरत है। इसके संक्रमण से बचने का सरल उपाय है। आपस में सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क का प्रयोग, कहीं से आने पर हाथों को अच्छी तरह से साबुन से धोए। किसी तरह की स्वास्थ्य से संबंधित परेशानी होने पर पीएचसी के चिकित्सकों से सम्पर्क करें। इस जागरूकता अभियान में यूनिसेफ के बीएमसी अनिल कुमार, एएम अनिल कुमार, जीविका के वरुण कुमार, एएनएम अंजन कुमारी, वार्ड सदस्य  अनु कुमारी, आशा के नंदिनी देवी, मिनकी देवी, गीता देवी जीविका के दर्जनों लोग शामिल थे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना