पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वैकल्पिक व्यवस्था किए बगैर कर दिया स्थानांतरण:आठ दिन से नानपुर के स्वास्थ्य केंद्र पर नहीं हैं डॉक्टर

नानपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

करीब 20 हजार आबादी को स्वास्थ्य सेवाएं देने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नानपुर में 8 दिन से डॉक्टर नहीं है। जिम्मेदारों ने नए डॉक्टर को भेजने से पहले ही यहां पदस्थ डॉक्टर का स्थानांतरण कर दिया। लिहाजा अब यहां इलाज करने वाला कोई नहीं है। मरीजों को परेशानी उठाना पड़ रही है। स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पिछले 8 दिनों से डॉक्टर नहीं है। इससे नानपुर सहित आसपास के ग्रामीण परेशानी उठा रहे हैं। मरीज उपचार कराने जब स्वास्थ्य केंद्र पहुंचता है तो डॉक्टर नहीं मिलते।

लिहाजा उन्हें झोलाछाप डॉक्टर की सेवा लेना पड़ रही है। वर्तमान में वायरल फीवर के अलावा सर्दी और जुकाम के मरीज बढ़ गए हैं। पूरे क्षेत्र में यही स्थिति है। ऐसे में रोजाना बड़ी संख्या में मरीज पहुंच रहे हैं। लेकिन डॉक्टर नहीं मिलने से वे आलीराजपुर, दाहोद और बड़वानी का रुख कर रहे हैं। वर्तमान में अस्पताल नर्सों के भरोसे ही चल रहा है। गौरतलब है कि ग्राम पंचायत नानपुर जिले की सबसे बड़ी पंचायत है। बावजूद स्वास्थ्य सेवाएं संभालने के लिए किसी को नहीं भेजा जा रहा।
ग्रामीणों की शिकायत के बाद हुआ स्थानांतरण
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर डॉ. बबीता नंदूरकर पदस्थ थीं। करीब एक पखवाड़े पहले कुछ लोगों ने उन पर ठीक से इलाज नहीं करने का आरोप लगाया। काफी विवाद भी हुआ। डॉक्टर ने भी परिजन पर एफआईआर कराई थी। इससे गुस्साए ग्रामीणों ने डॉ. नंदूरकर की शिकायत कलेक्टर और सीएमएचओ से कर दी। अधिकारियों ने भी वैकल्पिक व्यवस्था किए बगैर शिकायत के आधार पर करीब आठ दिन पहले डॉ. नंदूरकर का स्थानांतरण कट्ठीवाड़ा कर दिया। तब से मरीज परेशानी उठा रहे हैं।
एक-दो दिन में नए डॉक्टर की व्यवस्था हो जाएगी
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नानपुर में एक-दो दिन में नए डॉक्टर की व्यवस्था कर दी जाएगी।- डॉ. प्रकाश ढोके, सीएमएचओ, आलीराजपुर

खबरें और भी हैं...