महाअभियान:नरकटियागंज में हो रहा डोर-टू-डोर वैक्सीनेशन ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को किया जा रहा जागरूक

नरकटियागंज25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • वैक्सीनेशन को लेकर 56 एएनएम समेत 200 आशा को सौंपी गई है जिम्मेदारी

नरकटियागंज शहर एवं ग्रामीण इलाकों के सभी गांवों में अनुमंडलीय अस्पताल की ओर से डोर-टू-डोर वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है। पिछले दिनों किए गए सर्वे के आधार पर वैक्सीन से वंचित लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। अनुमंडलीय अस्पताल के स्वास्थ्य प्रबंधक रविशंकर सिंह ने बताया कि महाराष्ट्र, केरल, दिल्ली व पंजाब सहित अन्य प्रदेशों से घर आने वाले प्रवासी लोगों की जांच के लिए नाइन-टू-नाइन जांच की व्यवस्था की गई है। इसके तहत सुबह नौ बजे से रात नौ बजे तक कोविड जांच की जा रही है।

साथ ही बाहर से आने वाले प्रवासियों का वैक्सीनेशन भी 12 घंटे कैंप लगाकर किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि रेलवे स्टेशन पर भी कैंप लगाकर ट्रेनों से उतरने वाले प्रवासी लोगों की कोविड जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि शहर से लेकर गांव तक डोर टू डोर वैक्सीनेशन की व्यवस्था की गई है। वैक्सीनेशन को लेकर लोगों को जागरुक करने का कार्य किया जा रहा है।

ताकि अधिक से अधिक वैक्सीनेशन हो सके। डोर-टू-डोर वैक्सीनेशन कार्य में आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी सेविका, स्वास्थ्यकर्मी, एएनएम सहित अन्य कर्मियों को लगाया गया है। पंचायत स्तर पर मॉनिटरिंग की भी व्यवस्था की गई है। प्रखंड में डोर टू डोर वैक्सीनेशन अभियान के तहत लगभग एक हजार से अधिक लोगों का टीकाकरण किया गया है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि यह अभियान छठ तक जारी रहेगी। वैक्सीनेशन को लेकर नरकटियागंज के 56 एमएम को लगाया गया है तथा 200 आशा को भी इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है।

खबरें और भी हैं...