जहरीली शराब कांड:गांव वालों ने डीआईजी से कहा- सर, यहां हमेशा शराब बिकती है, हमें धमकी दी जाती है- किसी से शिकायत करोगे तो जिंदगी बर्बाद कर देंगे

नौतनएक महीने पहलेलेखक: कृष्णकांत मिश्र
  • कॉपी लिंक
जहरीली शराब पीने से मौत के बाद रोते-बिलखते बच्चा यादव के परिजन। - Dainik Bhaskar
जहरीली शराब पीने से मौत के बाद रोते-बिलखते बच्चा यादव के परिजन।

गुरूवार सुबह से ही हर ओर उत्साह का माहौल था। शहर की कौन कहे गांव-गांव साफ सफाई चल रही थी। गांव में भी लोग दरवाजे पर रंगोली बना रहे थे। हर ओर दीपावली को लेकर काफी उत्साह व उमंग का माहौल था। लोग घरों को दीयों से सजा रहे थे। ताकि संध्या होते ही घर को रोशनी से जगमगा दें। लेकिन इस उमंगों के बीच जिले के नौतन प्रखंड की दक्षिणी तेल्हुआ व झखरा पंचायत के गांवाें में परिवार को राेशन करने वाले दीये एक एक कर बुझते जा रहे थे।

पूरे पंचायत में चिख-पुकार सुनाई पड़ रहे थे। हर ओर कोहराम मचा हुआ था। जिस गांव में जाए वहां किसी न किसी के दरवाजे पर शव रखे हुए थे। लोगों का जमावड़ा चारों ओर दिख रहा था। कोई कहता कि वार्ड- 3 के उमा की मौत हो गई तो कोई कहता मकोदर की हालत भी नाजुक बनी हुई है। आक्रोशित लोग पुलिस को कोस रहे थे।

करुण चीत्कार के बीच सरली देवी, शैल कुमारी, देवपति देवी आदि ने बताया कि उनके पति बुधवार की रात गांव के प्रकाश राम आदि के साथ शराब पी थी। रात में खाकर सोए आधी रात के बाद से बेचैनी शुरू हुई, आंख से दिखना बंद हो गया, खड़ा होने पर पैर डगमगाने लगा, शरीर लुढ़कने लगा तो किसी प्रकार लेकर अस्पताल गए। जहां एक-एक कर सबकी मौत हो रही है और घर के चिराग बुझते जा रहे है।

इस प्रकार दक्षिणी तेल्हुआ पंचायत में गुरूवार सुबह से लेकर शाम तक 10 लोगों ने दम तोड़ा तो गुरूवार की रात से शुक्रवार शाम तक कुल 6 परिवारों का चिराग जहरीली शराब ने बुझा डाला। इस प्रकार दो दिनों में पंचायत के 16 लोग काल के गाल में समा गए।

सूचना पर गुरूवार से ही पूरा प्रशासनिक महकमा सहित सरकार के मंत्री पंचायत का दौरा व कैंपिंग किए हुए है। लाशों का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंपा जा रहा है। कुछ लोगों ने बिना पोस्टमॉर्टम कराए ही अंत्येष्टि कर दी है।

पांच पीड़ितों का जीएमसीएच में और दर्जनाें लोगों का विभिन्न अस्पतालों में चल रहा इलाज, स्थिति नाजुक

थानेदार व चौकीदार सह दफादार निलंबित
नौतन के दक्षिणी तेल्हुआ प्रकरण में थानेदार सहित तीन लोग नप गए है। प्रशासन ने ग्रामीणों की मांग व मौके की नजाकत को समझते हुए यह कार्रवाई की है। चंपारण रेंज के डीआईजी प्रणव कुमार प्रवीण ने बताया कि नौतन थानाध्यक्ष मनीष कुमार शर्मा, स्थानीय दफादार सह चौकीदार पवन सिंह को निलंबित किया गया है। ग्रामीणों के आरोप पर चौकीदार एवं दफादार की भूमिका की जांच की जा रही है। दोषी पाए जाने पर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

सभी मृतकाें में थे एक ही लक्षण, परिजन लेकर पहुंचे अस्पताल, एक-एक कर होने लगी मौत
दक्षिणी तेल्हुआ के साह टोला निवासी मृत महाराज यादव के भाई पटवारी यादव ने बताया कि बुधवार की शाम भैया गांव से आने के बाद सो गए। बेचैनी हुई तो बताया कि प्रकाश ने दारु पिलाया उसमें जहर डाल दिया है। उन्हें जगदीशपुर के ताज अस्पताल ले जाया गया जहां गुरूवार उनकी मौत हो गई।

बच्चा यादव की पत्नी शैलकुमारी ने बताया कि बुधवार की शाम मुन्ना की दुकान से शराब पीकर आए पैर लड़खड़ा रहा था। बेचैनी हुई, आंख से दिखना बंद हो गया, उल्टी हुई, इसके बाद बेतिया के डा. एसके यादव के यहां ले जाया गया जहां मौत हो गई। इसी तरह से सभी की एक-एक कर मौत हो गई।

सूचना पर दक्षिण तेल्हुआ पहुंचे डीआईजी, डीएम और एसपी, लोगों ने की शिकायत
सूचना पर चंपारण रेंज के डीआईजी प्रणव कुमार प्रवीण, डीएम कुंदन कुमार व एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा दक्षिण तेल्हुआ पहुंचे। जवाहिर सहनी के दरवाजे पर डीआईजी ने खुद परिजनों का बयान दर्ज किया। इसी दौरान संदीप कुमार व गांव के अन्य लोगों ने डीआईजी को बताया कि सर यहां के युवाओं को स्थानीय चौकीदार, दफादार एवं शराब कारोबारियों की ओर से धमकी दी जाती है कि कही भी शिकायत किया तो गलत केस में फंसवाकर जीवन बर्बाद कर दिया जाएगा। यही शिकायत लोगों ने महाराज यादव के दरवाजे पर पहुंचे डीएम, डीआईजी व एसपी से भी की।

मकोदर सहनी, झुन्ना सहनी और मिर्जा सहनी का इलाज किसी निजी अस्पताल में चल रहा
जहरीली शराब की शिकार हुए दक्षिणी तेल्हुआ व आसपास के दर्जनाधिक लोगों का अब भी विभिन्न जगहों पर इलाज जारी है। पांच लोगों का इलाज जीएमसीएच में जारी है। जिसमें सुनील पासवान, झखर पासवान, नंदू राम, शिवलखन राम व देवेंद्र राम का नाम शामिल है।

वहीं दुखन राम का इलाज गंभीर हालत में बेतिया के ही किसी निजी नर्सिंग होम में चल रहा है। मकोदर सहनी, झुन्ना कुमार सहनी, मिर्जा सहनी का इलाज कही निजी अस्पताल में चल रहा है। जबकि कई लोग नौतन, जगदीशपुर आदि जगहों पर निजी स्तर पर इलाज करा रहे है।

एक्सपर्ट व्यू: मिथाइल अल्कोहल अधिक हो तो जाती है आंख की रोशनी

नरकटियागंज अनुमंडलीय अस्पताल के आंख रोग विशेषज्ञ डाॅ. जहीरुद्दीन के अनुसार स्प्रिट व अन्य लिक्विड पदार्थ में मिथाइल अल्कोहल अधिक मात्रा में मिलाकर पीने से उसका असर आंख के नस व रेटिना पर पड़ता है। जिसकी वजह से आंख की रोशनी सदा के लिए चली जाती है।

वहीं अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से बेचैनी, उल्टी आदि भी होने लगती है। मिथाइल अल्कोहल का कई कमर्शियल यूज भी होता है। इसे लोग शराब में भी सेवन करते है। लेकिन अधिक मात्रा में सेवन करना हानिकारक है।

  • थानेदार एवं दफादार सह चौकीदार को निलंबित किया गया है। दो कारोबारियों को हिरासत में लेकर इलाज कराया जा रहा था। जिसमें रामप्रकाश राम की मौत हो गई है। एक कारोबारी मकोदर सहनी का इलाज कराया जा रहा है। अन्य लोगों को चिह्नित किया गया है। सभी पर कार्रवाई की जाएगी। - उपेंद्र नाथ वर्मा, एसपी, बेतिया।
खबरें और भी हैं...