भास्कर पड़ताल:नेपाल से तस्करी कर मंगाई गई 260 किलाे चांदी मामले में 4 व्यवसायियों काे भेजा जेल

मुजफ्फरपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इन्हीं बैग में रखी चांदी की गई जब्त। - Dainik Bhaskar
इन्हीं बैग में रखी चांदी की गई जब्त।

नेपाल से तस्करी कर लाए गए 260 किलाे चांदी के मामले में डीआरआई टीम ने गुरुवार की शाम 4 आभूषण व्यवसायी काे जेल भेजा दिया। जब्त चांदी की कीमत डीआरआई ने 1.70 कराेड़ रुपए बताई है। जांच एजेंसी ने पुरानी बाजार के आभूषण व्यवसायी विकास अग्रवाल उर्फ मुन्ना अग्रवाल, उसके पुत्र शशांक अग्रवाल, संतोष कुमार और शुभम मल्लिक काे काेर्ट में पेश किया। जिसके बाद सभी काे न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया।

डीआरआई के आधिकारिक सूत्र ने बताया कि तस्करों ने चांदी काे चावल जैसे दाने में ढाल रखा था। इसे 40 पैकेट में कार की सीट के नीचे बनाए चैंबर में छिपाया गया था। डीआरआई दिल्ली की टीम काे तस्करी की चांदी की पुख्ता सूचना थी। इसी से कार पकड़ी गई। कार में प्रारंभिक ताैर पर तलाशी लेने पर कुछ नहीं मिली।

जब कार चालक व उस पर सवार लाेगाें से पूछताछ की गई ताे सीट के नीचे बने गुप्त चैम्बर के बारे में बताया। पूछताछ में कार पर सवार तस्करों ने नेपाल से तस्करी कर लाए गए चांदी के बारे में बताया कि यह विकास अग्रवाल और संतोष के हैं। इसके बाद इन दाेनाें की दुकान पर छापेमारी की गई। दाेनाें काे गिरफ्तार किया गया।

दाे संदिग्धों से डीआरआई टीम कर रही है पूछताछ

चांदी जब्ती और गिरफ्तार 4 तस्करों से पूछताछ के बाद डीआरआई की टीम ने विकास अग्रवाल के नेटवर्क से जुड़े रक्सौल के 4 तस्करों के ठिकानों पर छापेमारी की। दिल्ली में चांदनी चाैक के एक आभूषण दुकान तक डीआरआई की टीम पहुंची। रक्सौल व मुजफ्फरपुर से दाे अन्य संदिग्धों काे टीम ने उठाया है। इससे पूछताछ चल रही है।

खबरें और भी हैं...