उद्यमी योजना:724 नए सूक्ष्म एवं लघु उद्याेग, 10 हजार लाेगाें काे मिलेगा काम; अप्रैल तक जिले में खुलेंगे नए उद्योग

मुजफ्फरपुर10 दिन पहलेलेखक: शिशिर कुमार
  • कॉपी लिंक
सूक्ष्म एवं लघु उद्योग - Dainik Bhaskar
सूक्ष्म एवं लघु उद्योग

मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत अप्रैल तक जिले में 724 सूक्ष्म एवं लघु उद्योग खुलेंगे। जरूरी प्रक्रिया मार्च तक पूरी कर पहले किस्त की राशि उद्यमियों काे मिल जाएगी। प्रदेश में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में एससी-एसटी, अति पिछड़ा के साथ सामान्य वर्ग के युवा एवं महिलाओं काे उद्यमिता के क्षेत्र में माैका मिला है।

प्रदेश में चयनित करीब 16000 उद्यमियों में 30 प्रतिशत महिलाएं हैं। योजना के तहत नया उद्योग लगाने के लिए 10 लाख रुपए तक आर्थिक सहायता एवं प्रोत्साहन राशि सरकार देगी। युवा उद्यमी योजना में 5 लाख रुपए अनुदान और बाकी 5 लाख कर्ज हाेगा। ब्याज दर 1 प्रतिशत है। जबकि, एससी-एसटी, पिछड़ा व महिलाओं काे ब्याज नहीं लगेगा। राशि दाे किस्त में मिलगी।

  • रेडिमेड 10 प्रतिशत
  • मसाला 7 प्रतिशत
  • इवेंट मैनेजमेंट 6 प्रतिशत
  • ब्यूटी पार्लर 5 प्रतिशत
  • ग्रिल, नाेटबुक, चमड़े के जूते,
  • आटा-सत्तू 4-4 प्रतिशत
  • अगरबत्ती, पेपर
  • कप प्लेट 3 प्रतिशत
  • अन्य इकाई हर काेटि में 2 से 3-3 प्रतिशत

पहली बार युवा और महिला भी हुए शामिल

उद्यमी योजना के तहत पहले एससी-एसटी एवं अति पिछड़ा काेटि काे लाभ मिलता था। 90-92 लाेगाें काे लाेन मिलते थे। पहली बार सामान्य वर्ग के युवा एवं महिला काे भी जाेड़ा गया है। संख्या चार गुनी बढ़ी है।

ये इकाइयां मुजफ्फरपुर जिले में होंगी शुरू

बेकरी उत्पाद, पशु आहार, मुर्गी दाना, तेल मिल, मसाला, नमकीन, आइसक्रीम, जैम/जेली/सॉस, दाल मिल, पापड़ एवं बड़ी, आटा- बेसन, पाॅपकाॅर्न, पोहा-चूड़ा, मधु प्रसंस्करण, फलों के जूस, मिठाई, बोतल बंद पानी, बांस का सामान- फर्नीचर, फ्लाई एस ब्रिक्स, पूर्व निर्मित भवन निर्माण सामग्री, सीमेंट ब्लॉक एवं टाइल्स, प्लास्टर ऑफ पेरिस, मार्बल कटिंग, डिटर्जेन्ट पाउडर, साबुन एवं शैंपू, मच्छर भगाने का टिकिया, डिस्पोजेबल डाइपर एवं सेनेटरी नैपकिन, बिंदी व मेहंदी, केश तेल, प्लास्टिक सामग्री बॉक्स, पीवीसी जूता, अल्युमिनियम फर्नीचर, कृषि यंत्र, गेट ग्रिल एवं वेल्डिंग, हॉस्पिटल बेड व ट्राॅली, हल्के वाहन के बॉडी निर्माण, आभूषण निर्माण वर्कशॉप और स्टील बॉक्स की इकाइयां लगेंगी।

किस श्रेणी में कितने चयनित

  • एससी-एसटी 172
  • अति पिछड़ा 184
  • युवा 186
  • महिला 182

^योजना से बड़ी संख्या में राेजगार मिलेंगे। मार्च तक काउंसेलिंग से लेकर ट्रेनिंग तक की सारी प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। इसके बाद पहली किस्त की राशि दी जाएगी। काउंसेलिंग 5 मार्च तक हाेगी। फिर लाभार्थियों काे ट्रेनिंग के लिए पटना भेजा जाएगा। इसके बाद 60-40 के अनुपात में राशि दी जाएगी।
- परिमल कुमार सिन्हा, जीएम, जिला उद्योग केंद्र

खबरें और भी हैं...