मुजफ्फरपुर से निकली भूमिहार ब्राह्मण सामाजिक फ्रंट की रैली:पटना में विशाल सम्मेलन का होगा आयोजन, 5-7 लाख लोगों को जोड़ने की रणनीति

मुजफ्फरपुर2 महीने पहले
मुजफ्फरपुर से निकली भूमिहार ब्राह्मण सामाजिक फ्रंट की रैली।

भूमिहार ब्राह्मण सामाजिक फ्रंट की रैली मुजफ्फरपुर से पटना के लिए रवाना हो चुकी है। पटना के श्री कृष्ण मेमोरियल हॉल में विशाल सम्मेलन आयोजित होने वाला है। इसमे सभी जिलाध्यक्ष और पंचायत स्तर के प्रतिनिधि शामिल होंगे। इसकी जानकारी पूर्व मंत्री सुरेश शर्मा ने दी। उन्होंने कहा कि समाज के लोग अलग-थलग हो गए हैं। जिन्हें एकजुट किया जा रहा है। इसमें पूरे बिहार के प्रतिनिधियों का एकत्रीकरण होगा। इस समाज को कैसे एकजुट किया जाए। इस पर रणनीति बनेगी।

सभी प्रतिनिधियों से विचार विमर्श किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सिर्फ भूमिहार ब्राह्मण समाज ही नहीं बल्कि दूसरे समाज के लोगों को जोड़ने का प्रयास कर तरह से करें। ताकि हमारी सामाजिक प्रतिष्ठा में इजाफा हो। इसपर रणनीति बनेगी। कहा कि सर गणेशदत्त बाबू, लंगट बाबू, रामदयालु बाबू और महंत मनियारी जो दूसरे समाज के लोगों के लिए काम करते थे। उनकी जो प्रतिष्ठा रहती थी। उसमें आज कमी हुई है। हमे फिर से उसी प्रतिष्ठा को वापस लाना है।

हमे पीछे धकेलने की कोशिश की गई

पूर्व मंत्री ने कहा कि हमे हर तरह से पीछे धकेलने की लोगों ने कोशिश की है। हमारा किसी पार्टी से बैर नहीं है। किसी से दुश्मनी है और न दोस्ती है। हमारे फ्रंट का ये मूल मंत्र है कि 'ना केहू से दोस्ती, ना केहू से बैर'। इसलिए हम एकजुट हो रहे हैं। हमे जो सम्मान देगा। उस पार्टी को हम जरूर स्पोर्ट करेंगे और सम्मान देंगे।

ये दौड़ चला है देखते जाइये

उन्होंने कहा कि अभी तो करीब 10 हजार लोगों के इस सम्मेलन में जुटने की प्रबल सम्भावना है। लेकिन, अभी ये जो दौड़ चला है या हमने चलाया है। इसमे एक समय ऐसा भी जल्द ही आएगा। जब 5-7 लाख लोग हमारे साथ होंगे। हम किसी के पिछलग्गू बनकर काम नहीं करेंगे। हम निर्णायक की भूमिका में होंगे।