• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Muzaffarpur
  • Action Of Muzaffarpur Excise Department In Ahiyapur And Bochan, Liquor Was Hidden In Intelligence Box, Consignment Of Liquor Was Imported From Punjab

एक ट्रक और तीन पिकअप पर लोड शराब जब्त:मुजफ्फरपुर एक्साइज विभाग की अहियापुर और बोचहां में कार्रवाई, खुफिया बॉक्स में छुपाई थी शराब

मुजफ्फरपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जब्त की गई शराब की खेप और ट्रक - Dainik Bhaskar
जब्त की गई शराब की खेप और ट्रक

मुजफ्फरपुर जिले में उत्पाद विभाग की टीम ने देर रात शराब धंधेबाजों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की। अहियापुर और बोचहां इलाके में छापेमारी कर एक ट्रक और तीन पिकअप पर लोड भारी मात्रा में शराब जब्त की गई। इसकी गिनती की जा रही है। 70 लाख रुपए से अधिक इसकी अनुमानित कीमत आंकी गयी है।

उत्पाद अधीक्षक संजय राय ने बताया कि गिनती होने के बाद ही सही आंकड़ा सामने आएगा। जब्त ट्रक हरियाणा नम्बर है। इसमे खुफिया बॉक्स भी बना हुआ था। इसके अलावा पिछले हिस्से (डाला) पर भी शराब की कार्टन को छुपाई गयी थी। इसपर फ़ॉर सेल इन पंजाब लिखा हुआ है। वहीं जब्त तीनों पिकअप मुजफ्फरपुर का है। इस दौरान किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। लेकिन, ट्रक और पिकअप से कई कागजात बरामद हुए हैं। जिसमें ड्राइविंग लाइसेंस समेत अन्य हैं। इसकी जांच की जा रही है। चारों वाहन को जब्त कर आबकारी थाना पर लाया गया है। शराब के कार्टन की गिनती कराई जा रही है।

लीची बगान में हो रहा था अनलोड

उत्पाद अधीक्षक ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि अहियापुर में लीची बगान में शराब की बड़ी खेप को अनलोड किया जा रहा है। उत्पाद इंसेक्टर अभिनव कुमार के नेतृत्व में टीम गठित कर छापेमारी की गई। टीम के पहुंचते ही सभी धंधेबाज़ फरार हो गए। वहां से एक ट्रक और दो पिकअप पर लोड शराब जब्त हुई। जांच के क्रम में पता लगा कि एक पिकअप पर शराब लोड कर बोचहां की तरफ भेजा गया है। वहां से टीम ने बोचहां इलाके में रेड किया। शराब लोड पिकअप को जब्त किया गया। चालक भागने में सफल रहा।

पंजाब से मंगाई गई थी खेप

उत्पाद विभाग की माने तो शराब की खेप पंजाब से मंगाई गई थी। इसे स्थानीय धंधेबाजों ने मंगाया था। रात में सुनसान बगान में इसे अनलोड कर छोटी वाहनों पर लोड कर ठिकाना लगाने की तैयारी थी। तभी टीम में रेड कर दिया। उत्पाद इंस्पेक्टर ने बताया कि सभी धंधेबाजों के नाम पते का सत्यापन कर अभियोग दर्ज करने की कवायद की जा रही है।