पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आक्रोश फूटा:बाढ़ के बाद लोंगों के सब्र का बांध भी टूट रहा, सहायता की मांग को लेकर आप ने दिया धरना

मुजफ्फरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • महिलाओं ने हाथ में लाठी-डंडा के साथ ही खाली बर्तन लेकर दिखाई शक्ति, बोलीं- हमारी मांगे सुनें जिम्मेदार

प्रखंड अंतर्गत रामपुर कृष्ण पंचायत के सुस्ता गांव में महिलाओं ने घुटने भर पानी में खड़े होकर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किया।सुस्ता गांव समेत संपूर्ण पंचायत को बाढ़ ग्रस्त घोषित करने की मांग कर रही थी। महिलाओं ने मुखिया समेत स्थानीय जनप्रतिनिधि के विरोध में नारेबाजी भी की। बंधुआ मुक्ति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रिंकू देवी आदि ने कहा कि मुखिया द्वारा भेद-भाव पूर्ण रवैया अपनाया जा रहा है।

सुस्ता गांव के चारों ओर पानी फैल चुका है। लोगों के घर में पानी भी घुस चुका है। फिर भी स्थानीय जनप्रतिनिधि निजी कारणों से इस गांव को उपेक्षा कर रहे हैं। यदि संपूर्ण पंचायत को बाढ़ ग्रस्त नहीं घोषित किया जाता है, तो सभी महिलाएं सड़क पर उतर कर चक्का जाम करेगी। जिसकी जिम्मेवारी स्थानीय प्रतिनिधि समेत अंचल प्रशासन की होगी। प्रदर्शन के दौरान महिलाएं हाथ में लाठी-डंडे एवं खाली बर्तन भी ली हुईं थीं।

आम आदमी पार्टी की ओर से राज्यव्यापी आंदोलन के तहत बाढ़ के विरोध में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर नेताओं व कार्यकर्ताओं ने अपने घरों में ही धरना दिया। आम आदमी प्रदेश उपाध्यक्ष राकेश साहू, प्रवक्ता डॉ. हेम नारायण विश्वकर्मा, जिलाध्यक्ष संजय कुमार मयंक व पंचायती राज प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष मुकेश शर्मा ने बिहार में बाढ़ के लिए राज्य सरकार को दोषी बताया।

उन्हाेंने कहा, जनता ने बड़ी उम्मीद से नीतीश कुमार को सीएम बनाया था, ताकि प्रलयंकारी बाढ़ की तबाही से मुक्ति मिलेगी। धरने में मुख्य रूप से जोनल अध्यक्ष आनंद पटेल, औराई विस प्रभारी सदात खय्याम, नगर महामंत्री अजय पटेल, किसान प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष नवीन मिश्रा, जोनल अध्यक्ष दिलीप झा, रमेश पासवान, मांझी संजू देवी, प्रदेश उपाध्यक्ष मुमताज खातून, अवधेश झा, शैलेंद्र श्रीवास्तव, डॉ. जमील अहमद, कृष्णकुमार वर्मा, विजय शर्मा पप्पू, उदय कुमार, एमके जॉन व सुजीत वर्मा थे।

जलजमाव से तीन गांव की 20 हजार आबादी परेशान
अहियापुर, सलेमपुर एवं खुरसेदा गांव की करीब 20 हजार आबादी बाया नदी के बाढ़ के पानी एवं अतिवृष्टि के पानी से प्रभावित है ।साहेबगंज -केसरिया एसएच 74 से अहियापुर गांव जाने मुख्य मार्ग में तीन फीट पानी सड़क पर बह रहा है। सैकड़ों घरों में अभी भी पानी घुसा हुआ है। जलनिकासी की मांग को लेकर तीनों गांवों के लोगों ने जेसीबी के माध्यम से नवल किशोर चौक के समीप बंद नाला की खुदाई करवाकर पानी को बाया नदी में बहावना चाहा, लेकिन कुछ व्यक्ति विशेष के लोगों ने नाला की खुदाई नहीं करने दिया। इसी बात को लेकर ग्रामीणों में एक -दो घंटे तक बहस होती रही। बीडीअाे अरविंद कुमार सिंह एवं थानाध्यक्ष राजू कुमार ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि सोमवार को नाला की खुदाई करवाकर जल निकासी करवाई जाएगी ।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें