आस्था पर कुव्यवस्था भारी:बाबा गरीबनाथ का गर्भगृह हुआ ओवरफ्लो,साेख्ता बाल्टी से जल निकाल फेंकना पड़ रहा

मुजफ्फरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गर्भगृह में भर गए जल को निकालते स्वयंसेवक। - Dainik Bhaskar
गर्भगृह में भर गए जल को निकालते स्वयंसेवक।

बाबा गरीबनाथ मंदिर में भक्ताें की आस्था पर प्रबंधन की कुव्यवस्था भारी पड़ रही है। बाबा गरीबनाथ पर लाखाें श्रद्धालु जल चढ़ाते हैं, लेकिन गर्भ गृह के बाद आगे यह नाले में चला जाता है। शुक्रवार को भी श्रावणी पूर्णिमा पर जलाभिषेक के लिए हजारों की संख्या में श्रद्धालु सुबह से ही उमड़ पड़े। जल चढ़ाने के बाद इसकी निकासी सही से नहीं हाेने के कारण लंबे वक्त से ऐसा हो रहा है। बावजूद इसके बाबा गरीबनाथ न्यास काे इसकी चिंता नहीं है।

इससे भक्ताें की आस्था पर चाेट पहुंच रही है। खासकर सावन में जब एक दिन में ही ढाई लाख लीटर तक गंगा जल चढ़ते हैं। उस दाैरान गर्भ गृह भरने के बाद आगे उत्तर दिशा में निकासी के लिए लगाए गए माेटर व अन्य सिस्टम भी नाकाम हो जाते हैं। ऐसे में गर्भ गृह से साेख्ता में आए जल ओवर फ्लाे हाेने की स्थिति में बाहर फेंकना पड़ता है। दरअसल, गर्भ गृह से एक नली के जरिए जल उत्तर दिशा में बने साेख्ता में जाता है।

मंदिर के पुजारी के अनुसार, यह काफी गहरा है, जिसमें जल काे खींचने के लिए माेटर भी लगे हैं। लेकिन, शुरुआत से ही साेख्ता कामयाब नहीं रहा। सावन में हर साेमवारी से पहले इसकी सफाई कराई जाती है। इसके बावजूद काफी मात्रा में जब जल चढ़ाए जाते हैं ताे ओवरफ्लो के हालात उत्पन्न हो जाते हैं। इसे देख कई बार न्यासी से लेकर पुजारी तक आपत्ति जताते हुए उचित प्रबंधन का आग्रह कर चुके हैं। लेकिन, अब तक इसका समाधान नहीं निकल सका है।

न्यासी ने कहा- लिखित सुझाव पर अमल नहीं हुआ जल काे प्यूरीफाई या पास के पाेखर में गिराने से पवित्रता बनी रहेगी

बाबा को अर्पित जल साेख्ता में ही जाता है

गर्भ गृह का जल साेख्ता में जाता है। कुछ बाहरी जल नाला में जाता है। साेख्ता ओवर फ्लाे हाेने पर बाल्टी से निकाला जाता है। लेकिन 4 साल पहले इसे लेकर डीएम ने एक कमेटी बनाई थी। उस कमेटी की रिपाेर्ट के आधार पर ही साेख्ता बना था। यह काफी गहरा है। इसी में जल निकासी की व्यवस्था है।

-एनके सिन्हा, सचिव, श्री गरीबनाथ न्यास समिति

साेख्ता ओवर फ्लाे हाेने की जानकारी नहीं है

साेख्ता के ओवर फ्लाे हाेने की जानकारी मुझे नहीं है। साेख्ता काे साफ कराने के साथ बाबा पर चढ़ा जल पाेखर तक पहुंचाने की व्यवस्था की जाएगी। न्यास समिति की अगली बैठक में में प्रस्ताव लाकर इस समस्या का समाधान हाेगा। आस्था से जुड़ा मामला है। इसमें काेताही नहीं बरती जाएगी।

-ज्ञान प्रकाश, एसडीओ पूर्वी सह उपाध्यक्ष, श्री गरीबनाथ न्यास समिति

खबरें और भी हैं...