पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जलग्रहण क्षेत्र कहें या तालाब में तब्दील:बेला औद्योगिक क्षेत्र झील में तब्दील, माल लदे 3 ट्रक नाले में फंसे; एक चालक गंभीर

मुजफ्फरपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बेला इंडस्ट्रियल एरिया में जलजमाव के कारण नाली में फंसा ट्रक। - Dainik Bhaskar
बेला इंडस्ट्रियल एरिया में जलजमाव के कारण नाली में फंसा ट्रक।
  • फेज-2 में मालवाहक वाहन पलटने से 11 हजार वोल्ट का तार टूटा

बेला औद्योगिक इलाका जलग्रहण क्षेत्र कहें या तालाब में तब्दील हो गया है। फेज वन का पानी अब फेज टू में भी लबालब भर गया है। अधिकतर सड़कों पर दो से ढाई फीट पानी जमा हाेने या बह रहे हाेने से शनिवार को तीन माल लदे ट्रक नाले में पलट गए। हालांकि, बगल में चहारदीवारी हाेने के कारण बड़ा हादसा टल गया। दो ट्रकों पर फेज वन के उद्योग के लिए कच्चा माल लदा था।

एक मालवाहक वाहन फेज टू में मुर्गी दाना फैक्ट्री के पास पलट कर पोल से जा टकराया। इससे 11 हजार वोल्ट के तार टूट गए। चालक गंभीर रूप से जख्मी हो गया। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। उधर, पानी निकासी के लिए पूरे दिन बियाडा के इंजीनियर, उद्यमी संघ के अध्यक्ष एवं महासचिव की देखरेख में जेसीबी के साथ सफाई कर्मी लगे रहे।

उद्यमियों का कहना है कि इतना ज्यादा जलजमाव है कि जल्द राहत की उम्मीद नहीं है। तकरीबन 150 उद्योगों में उत्पादन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। 60 से ऊपर उद्योगों में पानी घुसने से लाखों की क्षति हुई है। माल के साथ मशीन भी खराब हो गई है।

जलजमाव से निबटना ही काम : उद्यमी संघ
उत्तर बिहार उद्यमी संघ के महासचिव विक्रम कुमार ने कहा कि उद्योग में उत्पादन के बदले दो दिनों से बियाडा के साथ पानी निकासी में ही लगे हैं। फेज वन और टू में भी नाले से होकर कई उद्योग में पानी घुसने लगा है। अध्यक्ष शिवनाथ गुप्ता ने कहा कि उद्यमियों को कोरोना और जलजमाव से निबटना ही रह गया है।

खबरें और भी हैं...