महिला का शव मिलने के बाद ITI कॉलेज में बवाल:मुजफ्फरपुर में पति का था दवा-व्यवसाय; हाथ पर लिखा था- मैं अपनी मौत की जिम्मेदार, गार्ड गिरफ्तार

मुजफ्फरपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रियंका (35 वर्ष) का शव और हाथ पर लिखा मैसेज। - Dainik Bhaskar
प्रियंका (35 वर्ष) का शव और हाथ पर लिखा मैसेज।
  • ,

मुजफ्फरपुर में महिला का शव ITI कॉलेज में मिलने के बाद भारी हंगामा हुआ। कॉलेज में तोड़फोड़ भी हुई। कर्मचारियों को लोगों ने खदेड़ दिया। आठ घंटे के बवाल और पुलिस के समझाने के बाद आक्रोशित लोग शांत हुए। इसके बाद बॉडी का पोस्टमॉर्टम हो सका। घटना काजीमोहम्मदपुर थाना के गन्नीपुर स्थित ITI कॉलेज की है।

बताया जा रहा है कि मृत महिला दवा व्यवसायी ब्रजेश कुमार की पत्नी प्रियंका देवी (35) है। वह टाउन थाना क्षेत्र स्थित केदारनाथ रोड की रहने वाली थी। उसकी ननद प्रतिमा के अनुसार, वह शुक्रवार सुबह 5 बजे वॉक के लिए निकली थीं। 8 बजे तक नहीं लौटी तो चिंता हुई। प्रतिमा ने प्रियंका के पति ब्रजेश को कॉल कर इसकी सूचना दी। इसके बाद सभी लोग खोजबीन को निकले। इसी दौरान रास्ते में जानकारी मिली कि ITI कॉलेज में एक महिला का शव मिला है। फिर सभी ने घटनास्थल पर पहुंचकर उसकी पहचान की।

घटना स्थल पर पड़ी लाश, जांच में जुटी पुलिस।
घटना स्थल पर पड़ी लाश, जांच में जुटी पुलिस।

हाथ पर लिखा मिला- मैं अपनी मौत की जिम्मेवार

पुलिस को जांच के दौरान मृत प्रियंका के हाथ पर कुछ लिखा हुआ मिला। इसमें कलम से लिखा था कि मैं अपनी मौत की जिम्मेवार हूं। मेरे बैग में एक डायरी है। उसे देख लीजिएगा। पुलिस का कहना है कि यह लिखावट महिला की है या किसी और की, इसका पता एक्सपर्ट से लगाया जा रहा है। ननद ने बताया कि वह घर से कान की बाली और गले में चेन पहनकर निकली थीं, लेकिन शव से दोनों गायब है।

पुलिस हिरासत में कॉलेज का गार्ड।
पुलिस हिरासत में कॉलेज का गार्ड।

कॉलेज के गार्ड पर हुआ शक, पुलिस ने किया अरेस्ट

पुलिस ने छानबीन के दौरान कॉलेज के गार्ड शत्रुघ्न से पूछताछ की। उसने बताया कि महिला मॉर्निंग वॉक कर रही थी। इसी दौरान बाथरूम के लिए कॉलेज के अंदर आ गई। बाथरूम का रास्ता पूछा तो बता दिया। बहुत देर तक वह बाहर नहीं निकली। फिर गार्ड ने गेट तोड़कर देखा तो वह अचेत पड़ी थी। गार्ड के अनुसार, उसने कॉलेज के तीन अन्य कर्मियों के साथ मिलकर अचेत महिला को घसीटकर बाहर किया। इसी दौरान किसी ने देख लिया और फिर हंगामा हो गया।

परिजनों ने गार्ड पर हत्या का आरोप लगाया है। गार्ड शत्रुघ्न को पुलिस ने संदेह के आधार पर हिरासत में ले लिया है। वहीं महिला को घसीटकर बाहर फेंकने वाले कॉलेज के तीन अन्य कर्मी फरार हैं। उन सभी की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। थानेदार सत्येंद्र सिन्हा का कहना है कि महिला के शरीर पर कोई जख्म के निशान नहीं हैं।

इससे पहले उग्र होती भीड़ को देखकर सिटी SP राजेश कुमार और टाउन DSP रामनरेश पासवान के साथ पांच थानों की पुलिस पहुंची थी। भीड़ को नियंत्रित किया गया। परिजन फरार गार्डों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। सभी को समझाकर कार्रवाई का आश्वासन देकर शांत कराया गया। FSL की टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच की है। साक्ष्य के तौर पर मृत महिला का मास्क, हवाई चप्पल और बाथरूम से कुछ नमूने एकत्रित किए हैं।

खबरें और भी हैं...