यौन शोषण के आरोपित ASI पर FIR दर्ज:सबसे बड़ा सवाल-होगी गिरफ्तारी या जांच रिपोर्ट का किया जाएगा इंतजार, आज पीड़िता का बयान लेगी जांच टीम

मुजफ्फरपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
महिला सिपाही द्वारा ASI जितेंद्र पासवान पर लगाये गए संगीन आरोपों की जांच तेज़ी से शुरू कर दी गयी है। - Dainik Bhaskar
महिला सिपाही द्वारा ASI जितेंद्र पासवान पर लगाये गए संगीन आरोपों की जांच तेज़ी से शुरू कर दी गयी है।

मुजफ्फरपुर जिला पुलिस बल की एक महिला सिपाही द्वारा ASI जितेंद्र पासवान पर लगाये गए संगीन आरोपों की जांच तेज़ी से शुरू कर दी गयी है। आरोपित जमादार के खिलाफ पीड़िता के बयान पर महिला थाना में FIR दर्ज किया गया। इसमें उसपर झांसा देकर दुष्कर्म, यौन शोषण और अश्लील तस्वीर व वीडियो बनाने का संगीन आरोप लगाया गया है। SSP जयंतकांत के निर्देश पर महिला थानेदार नीरू कुमारी ने इसकी जांच शुरू कर दी है। SSP द्वारा गठित जांच टीम आज पीड़िता का बयान दर्ज करेगी। इसके बाद उसका मेडिकल चेकअप भी कराया जाएगा। जांच और मेडिकल रिपोर्ट पर अब सबकी निगाहें टिक गई है। SSP ने DSP हेडक्वार्टर वैधनाथ प्रसाद और महिला थानेदार को जांच का जिम्मा सौंपा है। उनसे पूरी रिपोर्ट मांगी गई है। इसी आधार पर आगे की कार्रवाई तय होगी।

क्या होगी जमादार की गिरफ्तारी

अब सबसे बड़ा सवाल उठ रहा है की सिपाही ने जो आरोप लगाया है। वह काफी संगीन है। अगर आम लड़की इस तरह के आरोप किसी पुरुष पर लगाकर FIR दर्ज कराती है तो आरोपित की फौरन गिरफ्तारी हो जाती है। अब देखने वाली बात होगी की क्या ASI की गिरफ्तारी होगी या फिर जांच रिपोर्ट का इंतज़ार किया जाएगा। या जांच के नाम पर हीलाहवाली होगी। हालांकि, इस बिंदु पर SSP ने स्पष्ट करते हुए कहा है की जांच शुरू कर दी गयी है। उसी आधार पर कार्रवाई होगी। इसके अलावा ये भी सवाल उठ रहा है लाइन क्लोज़ तो कर दिया गया लेकिन निलंबित क्यों नहीं। इस बिंदु पर किसी वरीय अधिकारी ने कुछ नहीं कहा। सम्भावना है की FIR दर्ज हो चुकी है। अब उसे निलंबित भी कर दिया जाएगा।

धमकी भरे चैट का सौंपा साक्ष्य

पीड़िता के पास आरोपित द्वारा व्हाट्सएप पर भेजे गए दर्जनों धमकी भरे चैट है। इसका उसने स्क्रीनशॉर्ट लेकर रखा है। इसे साक्ष्य के तौर पर पुलिस को सौंपा गया है। इसमें अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी वाला चैट भी है। इसके अलावा ASI ने देख लेने की भी धमकी दी थी। पीड़िता के पास एक और तस्वीर है, जो पिलेट का है। उसका कहना है की कमरे में जब ASI ने उसे जान मारने की नीयत से फायरिंग की थी। तभी का वह पिलेट है। जिसकी तस्वीर ASI के जाने के बाद उसने अपने मोबाइल से खींचा था। इसे भी पुलिस को सौंपा गया है।

मुजफ्फरपुर में ASI पर यौन शोषण का आरोप

खबरें और भी हैं...