मुजफ्फरपुर में दो जगहों पर गैस सिलेंडर में लगी आग:एक लाख से अधिक की सम्पत्ति जलकर राख, स्थानीय लोगों की सूझबूझ से बड़ा हादसा टला

मुजफ्फरपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम। - Dainik Bhaskar
मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम।

मुजफ्फरपुर में एक बार फिर गैस सिलेंडर में आग लगने से बड़ा हादसा होने से बाल-बाल बच गया। घटना कांटी और सकरा थाना क्षेत्र में घटी। गुरुवार को कांटी थाना क्षेत्र के रतनपुरा में महेश दास के झोपड़ीनुमा घर मे खाना बन रहा था, तभी अचानक से गैस रिसाव होने लगा। इसका पता घर के लोगों को नहीं लगा। कुछ ही देर में आग की तेज लपटों ने सिलेंडर को अपनी चपेट में के लिया। अफरातफरी का माहौल बन गया। सभी लोग फौरन घर से चीखते-चिल्लाते बाहर भागे। शोर सुनकर आसपास के काफी लोग जमा हो गए। आग ने पूरे घर को अपनी चपेट में ले लिया।

गनीमत रहा कि सिलेंडर विस्फोट नहीं हुआ। स्थानीय लोगों ने पानी और बालू-मिट्टी फेंककर काफी हद तक आग पर काबू पा लिया। तबतक फायर ब्रिगेड की वाहन भी पहुंच गई। शीघ्र की आग की तेज लपटों को ठंडा कर दिया। तब जाकर लोगों ने राहत की सांस ली। इस दौरान महेश दास के घर मे रखा अनाज, कपड़ा और कुछ रुपये समेत अन्य सामान जलकर राख हो गए। कांटी थानेदार कुंदन कुमार ने बताया कि आग लगने की सूचना पर पुलिस गयी थी। आग पर काबू पा लिया गया है। गृहस्वामी के बयान के आधार पर आगे की कार्रवाई पुलिस करेगी।

इधर, सकरा थाना क्षेत्र के कुतुबपुर में भी एक घर में खाना बनाने के दौरान गैस सिलेंडर से रिसाव होने के कारण आग लग गयी। हालांकि स्थानीय लोगों ने सूझबुझ दिखाते हुए फ़ौरन सिलेंडर को बाहर फेंक दिया। मिट्टी डालकर आग बुझा दिया। इससे कोई बड़ी हताहत नहीं हुई। बता दें की गत माह मीनापुर के नन्दना गांव में सिलेंडर से रिसाव होने पर भीषण आग लग गया था। जिसमे झुलस कर तीन मासूम बच्चे और उसकी मां की मौत हो गयी थी। आज भी उस घटना को याद कर लोगों का कलेजा कांप उठता है।

खबरें और भी हैं...