नवनीत मर्डर केस में दोस्तों पर ही शक की सुई:दो दोस्त घर से बुलाकर ले गए थे, दोनों सर्विसिंग सेंटर पर हंगामा कर हत्या की दी थी धमकी

मुजफ्फरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नवनीत की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
नवनीत की फाइल फोटो।

मुजफ्फरपुर जिले के सदर थाना क्षेत्र के लहलादपुर पताही के सर्विसिंग सेंटर संचालक नवनीत मर्डर केस में उसके दोस्तों पर ही पुलिस की शक की सुई घूम गयी है। मृत नवनीत के पिता प्रेमरंजन शर्मा ने जो बयान पुलिस को दिया है। उससे यह और भी स्पष्ट हो गया है। उन्होंने सदर थानेदार सत्येंद्र मिश्रा को नवनीत के दो दोस्तों का नाम बताया। इसमें हेमंत और कुंदन हैं। इनके अलावा चार अज्ञात के बारे में भी बताया है। कहा कि वे लोग मूल रूप से पारू के रहने वाले हैं। वर्तमान में सदर थाना के लहलादपुर पताही में किराए के मकान में रहते हैं। यहीं नवनीत भी अपना सर्विसिंग सेंटर चलाता था।

आठ दिसम्बर की शाम नवनीत के दोनों दोस्त उसके घर पर आए थे। उस समय घर में नवनीत के माता-पिता नहीं थे। सिर्फ छोटा भाई और बहन थी। दोनों नवनीत को घर से बुलाकर के गया। इसके बाद नवनीत नहीं लौटा। उसका मोबाइल भी नहीं मिला। 11 दिसंबर को उसका शव पोखर में मिलने की सूचना मिली। शव पानी मे रहने से फूल चुका था। इससे स्पष्ट था कि उसी दिन उसकी हत्या कर शव को पानी मे फेंक दिया गया था।

आरोपियों ने दी थी धमकी
मृतक के पिता ने पुलिस को बताया कि आरोपियों ने कुछ दिन पूर्व किसी बात को लेकर नवनीत के साथ सर्विसिंग सेंटर पर विवाद किया था। हंगामा करते हुए उसे धमकी भी दी गयी थी। उन्होंने आशंका जाहिर की है कि उसी रंजिश में उसे घर से बुलाकर ले गए और हत्या कर दी। हालांकि नवनीत ने उनलोगों को उक्त विवाद के बारे में पूछने पर भी नहीं बताया था। लेकिन, उनलोगों को किसी दूसरे माध्यम से हंगामा और धमकी की जानकारी मिल गयी थी।

घटनास्थल के आसपास कराया गया टावर डंप

इधर, पुलिस ने घटनास्थल के आसपास टावर डंप कराया। इस दौरान कुछ संदिग्ध नम्बर भी मिले हैं। जिसका डिटेल्स खंगाला जा रहा है। वहीं नवनीत के मोबाइल का भी कॉल डिटेल्स खंगाला जा रहा है। इससे भी अहम सुराग मिल सकता है। नाम सामने आने के बाद पुलिस ने आरोपियों की तालाश में छापेमारी शुरू कर दी है। नामजद आरोपियों के घर पर छापेमारी की गई। लेकिन, दोनों का कोई सुराग नहीं मिला।

खबरें और भी हैं...