36 घंटे बाद तालाब से बाहर निकाला गया युवक:नशा खिलाकर शातिरों ने युवक को फेंका हाईवे किनारे पानी भरे तालाब में, हालत गंभीर

मुजफ्फरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घायल के पास लगी लोगों की भीड़। - Dainik Bhaskar
घायल के पास लगी लोगों की भीड़।

मुजफ्फरपुर के सदर थाना क्षेत्र के फकीरा चौक के समीप तालाब से एक युवक को बेहोशी के हालत में निकाला गया। वह बीते 36 घंटे से अधिक देरी से पानी में बेहोशी की हालत में पड़ा रहा है। वह ढंग से आवाज तक नहीं निकाल पा रहा था। इसके कारण वह पानी में ही पड़ा रहा। वह रास्ते से गुजर रहे ग्रामीणों को देखकर पानी के बाहर हाथ निकाल कर हिलाने लगा। जैसे ही एक ग्रामीण की उस पर नजर पड़ी तो शोर मचा गया।

स्थानीय लोगों ने आननफानन में इसकी सूचना सदर पुलिस को दिया। सूचना के आधार पर सदर थाना के दारोगा जैनेन्द्र कुमार झा दलबल के साथ मौके पर पहुंचे। लोगो की मदद से उसे पानी से बाहर निकाला गया। उसके बदन पर केवल जांघिया थी। वह ठंड से ठिठुर रहा था। उसकी हालत देखकर दरोगा ने पास के ही निजी क्लीनिक में उसे भर्ती कराया। जिसके बाद उसकी इलाज शुरू किया गया। मामले में चिकित्सक ने कहा कि उसकी स्थिति काफी गंभीर है। इलाज किया जा रहा है।

इधर, चिकित्सक ने आशंका जताया कि वह 24 घंटे से अधिक देरी से पानी मे था। जिसके कारण उसके हाथ व पैर फूल गए। उसे अभी भी होश नहीं आ सका है। पीड़ित खुदको दरभंगा का रहने वाला इंद्र कुमार बताया है। उसका इलाज किया जा रहा है।

पीड़ित को जब पानी से बाहर निकाला गया तो उसके बदन पर एक भी कपड़े नहीं थे। उसने केवल एक जांघिया पहना था। वह ठंड से ठिठुर रहा था। इसके बाद सदर थाना के दारोगा जैनेन्द्र कुमार झा ने मानवता दिखाते हुए ग्रामीणों को कुछ कपड़े लाने के लिए कहा। दारोगा के कहने पर लोगो ने उसे कपड़े दिए। फिर, दारोगा ने निजी क्लिनिक की फीस देकर पीड़ित युवक का प्रथम उपचार शुरू करवाया। ताकि वह किसी तरह बच जाए। लेकिन, उसकी स्तिथि चिंताजनक बनी हुई है।

लोगों के अनुसार, युवक को किसी ने नशा खिलाकर लूटपाट किया है। फिर, उसके कपड़े तक खोल लिया। उसके बाद उसे तालाब के पानी मे फेंक दिया। इसके बाद वह करीब 36 घंटे से अधिक पानी में पड़ा था। बेहोशी के हालत में उसने हाथ हिलाना शुरू कर दिया। इसके बाद शौच करने गए एक ग्रामीण को उस पर नजर पड़ी। फिर, उसे पुलिस के सहयोग से बचाया गया। इधर, पुलिस उसके होश में आने का इंतजार कर रही है। ताकि, उसके नाम पता का सत्यापन किया जा सके।

खबरें और भी हैं...