पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना :संयुक्त बैठक में बोले स्टेशन अधीक्षक- जंक्शन आने वाले सभी बच्चों की मॉनिटरिंग करे चाइल्ड लाइन

मुजफ्फरपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बच्चों की ट्रैफिकिंग रोकने को लेकर नए एसओपी पर किया गया विचार, जल्द दिखेगी सख्ती
Advertisement
Advertisement

जंक्शन के वीआईपी रूम में सोमवार को चाइल्ड ट्रैफिकिंग रोकने के लिए रविवार को बैठक हुई। इसमें केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए नए एसओपी पर चर्चा हुई। वहीं, ट्रैफिकिंग के शिकार बच्चों को फिर से मुख्यधारा में लाने के उपायों पर विमर्श किया गया।

स्टेशन अधीक्षक प्रियदर्शी राजीव ने कहा, रेलवे चाइल्ड लाइन को जंक्शन पर ट्रेन से आने वाले उन बच्चों की निगरानी करनी चाहिए कि वे कहीं ट्रैफिकिंग के शिकार तो नहीं हुए। उन्होंने कहा, चाइल्डन के सदस्य बच्चों से यह जानने का प्रयास करें कि उन्हें ले जाने वाला व्यक्ति ट्रैफिकिंग कर ले जा रहा है, या वह उनका बच्चा है। बाल संरक्षण अधिकारी चंद्रदीप कुमार ने कहा, बाल संरक्षण इकाई बच्चों के अधिकार दिलाने और उन्हें मुख्यधारा से जोड़ने के लेकर कई स्तर पर काम कर रही है।

ट्रैफिकिंग के शिकार बच्चों को मुख्यधारा मे लाने के लिए सरकार कई योजनाएं भी चला रही है। उनके रहने, खाने, शिक्षा, दीक्षा और मानसिक विकास के लिए भी कदम उठाए गए हैं। बाल संरक्षण अधिकारी ने कहा, यदि कहीं एक साथ कई बच्चे दिखें या उन्हें ट्रैफिकिंग की अाशंका नजर आए ताे वे तुरंत हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर इसकी सूचना दे सकते हैं। सरकार द्वारा व्यवस्था की गई है कि इस हेल्पलाइन के माध्यम से उन बच्चों को बचाने का हर संभव प्रयास हाेगा।

आरपीएफ इंस्पेक्टर वीपी वर्मा ने कहा, रेलवे चाइल्ड लाइन का सहयोग आरपीएफ हमेशा करती रही है। रेल थानाध्यक्ष नंदकिशोर सिंह ने कहा, जीआरपी रेलवे व चाइल्ड लाइन का सहयोग कर ट्रैफिकिंग के शिकार बच्चों को मुक्त करा रही है। यदि किसी भी व्यक्ति को ऐसे बच्चे नजर आते हों तो उन्हें तुरंत जीआरपी को सूचित कर सकते हैं। वक्ताओं ने भी बच्चों को ट्रैफिकिंग से बचाने के लिए विचार रखे।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज का दिन पारिवारिक और आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदायी है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति का अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ निश्चय से पूरा करने की क्षमत...

और पढ़ें

Advertisement