पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

एजुकेशन:इंजीनियरिंग कॉलेजों में 1 दिसंबर से कक्षाएं, एडमिशन 30 नवंबर तक

मुजफ्फरपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एआईसीटीई ने दिया निर्देश, संशोधित एकेडमिक कैलेंडर जारी

एमआईटी समेत सूबे के अन्य इंजीनियरिंग कॉलेजों में अब कक्षाओं की शुरुआत एक दिसंबर से हरहाल में करनी होगी। इसके लिए 30 नवंबर तक नामांकन की प्रक्रिया को पूरा करना होगा। एआईसीटीई ने कॉलेजों के लिए संशोधित कैलेंडर जारी कर दिया है। इसकी जानकारी सभी कॉलेजों को दी गई है।

इसमें कहा गया है कि कोरोना संकट के कारण यह निर्देश जारी किया गया है। लैटर एंट्री यानी एलई के तहत होने वाले नामांकन की प्रक्रिया भी निर्धारित तिथि तक पूरी करनी है। जेईई मेन के स्कोर के आधार पर एमआईटी समेत सूबे के अन्य सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेजों में नामांकन के लिए होने वाली ऑनलाइन काउंसेलिंग के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया जारी है।

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की आखिरी तिथि 26 अक्टूबर तक निर्धारित की गई है। चालान के माध्यम से अभ्यर्थी 27 अक्टूबर तक शुल्क का भुगतान कर सकते हैं। 29 अक्टूबर को ऑनलाइन फॉर्म एडिटिंग का विकल्प दिया जाएगा। 31 अक्टूबर को मेरिट लिस्ट का प्रकाशन किया जाएगा। वहीं, काउंसेलिंग की तिथि की घोषणा फिलहाल नहीं की गई है।

इंटीग्रेटेड बीएड : नामांकन को पहली काउंसेलिंग में 152 अभ्यर्थी

चार वर्षीय इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स में नामांकन के लिए तीन दिनों तक चली पहले राउंड की काउंसेलिंग में महज 152 अभ्यर्थियों के पहुंचने के बाद बची सीटों के लिए अब सोमवार से दूसरे चरण की काउंसेलिंग होगी। यह बुधवार तक चलेगी। फीस अधिक होने के कारण छात्र-छात्राओं और अभिभावकों की कम दिलचस्पी कोर्स को लेकर सामने आ रही है। पैरेंट्स फीस निर्धारण के फैसले को अव्यवहारिक और अदूरदर्शी बता रहे हैं। बेलसंड के विजयकांत झा ने कहा, चार वर्ष के लिए तीन लाख रुपए फीस काफी ज्यादा है।

इसे अधिकतम 2 लाख या 2.25 लाख रुपए होना चाहिए था। नवीन कुमार ने 2 लाख रुपए की फीस का समर्थन करते हुए कहा, इससे अभिभावकों को अधिक बोझ नहीं सहना पड़ता। कुंदन राज ने बताया, कोर्स फीस सालाना के बजाए छमाही होनी चाहिए। वहीं, दूसरी ओर स्नातक में अधिक आवेदन होने के कारण विवि को सीटों में बढ़ोतरी का प्रस्ताव तैयार करना पड़ा है। इसे मंजूरी के लिए सरकार को भेजा गया है। वहीं, पीजी में भी सीटें बढ़ाई गई हैं।

कॉलेज प्रबंधन ने कहा- शुल्क ज्यादा नहीं, जागरूकता की कमी
चार वर्षीय इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स बिहार विवि के 4 कॉलेजों में संचालित हो रहा है। कॉलेज प्रबंधन के अनुसार, शुल्क ज्यादा नहीं है। वैद्यनाथ शुक्ला कॉलेज ऑफ एजुकेशन के प्रबंध निदेशक राजीव रंजन ने बताया, नया कोर्स है। इसे लेकर जागरूकता की कमी है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपनी दिनचर्या को संतुलित तथा व्यवस्थित बनाकर रखें, जिससे अधिकतर काम समय पर पूरे होते जाएंगे। विद्यार्थियों तथा युवाओं को इंटरव्यू व करियर संबंधी परीक्षा में सफलता की पूरी संभावना है। इसलिए...

और पढ़ें