• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Muzaffarpur
  • Compulsion To Sell Paddy At The Hands Of Middlemen, Milling Charge Fixed At Rs 10 Per Quintal, While Millers Asking For Rs 300 Per Quintal

मिलर व पैक्स के पेंच में फंसा किसानों का धान:बिचौलियों के हाथों धान बेचने की मजबूरी, 10 रुपए प्रति क्विंटल मिलिंग चार्ज निर्धारित, जबकि 300 रुपए प्रति क्विटंल मांग रहे मिलर

मुजफ्फरपुरएक महीने पहलेलेखक: मो. इफ्तखार आलम
  • कॉपी लिंक
कुढ़नी में पैक्स गाेदाम में रखा गया धान। - Dainik Bhaskar
कुढ़नी में पैक्स गाेदाम में रखा गया धान।

जिले में मिलर व पैक्स के पेंच में किसानों का धान समय से नहीं बिक रहा है, जिस कारण किसान औने-पौने दाम में बिचौलियों के हाथों धान बेचने पर मजबूर हैं। वर्ष 2021/22 में उसना व अरवा चावल की खरीद के चक्कर में धान खरीदारी का रफ्तार जिले में काफी धीमी है। जिला सहकारी संघ ने बताया कि धान कुटाई के लिए विभाग मात्र 10 रुपए प्रति क्विंटल मिलिंग चार्ज देता है, जबकि मिलर द्वारा 300 रुपए प्रति क्विटंल मिलिंग चार्ज मांगी जाती है। धान उठाव के समय भी मिलर द्वारा प्रति क्विंटल धान पर 10 किलो अतिरिक्त मांग की जाती है।

पैक्स ने प्रति क्विंटल अतिरिक्त धान व 300 रुपए मिलिंग चार्ज देने में असमर्थता जताते हुए धान खरीदारी से इनकार कर दिया है। सोमवार को जिला सहकारी संघ के बैनर तले सभी पैक्स अध्यक्षों ने जिलाधिकारी को सामूहिक रूप से आवेदन कर इस मामले को सुलझाने का आग्रह किया है। पैक्स अध्यक्ष संघ के जिला सचिव चंदेश्वर प्रसाद चौधरी ने बताया कि मिलर द्वारा मनमानी की जाती है और विभाग भी मिलर का हितैषी बना रहता है, जिस कारण अब धान खरीदारी करना काफी कठिन है। जिला सहकारी संघ ने मांग किया है की पैक्स द्वारा खरीदारी किया गया धान सहकारिता विभाग खुद मिलिंग कराकर एसएफसी को उपलब्ध कराए। चावल उपलब्ध कराने से पैक्स को अलग रखा जाए ताकि मिलर द्वारा शोषण नहीं हाे।

पैक्सों के गोदाम में पड़ा हुआ है धान
मिलर की मनमानी से किसानों का धान अब तक पैक्सों के गोदाम में पड़ा हुआ है, जिस कारण आगे की खरीद नहीं हाे पा रही है। मिलर द्वारा पैक्स से एग्रीमेंट होने के उपरांत एडवांस में विभाग को मिलर द्वारा चावल की आपूर्ति की जाती है। उसके बाद पैक्सों से मिलर द्वारा धान का उठाव किया जाता है, मगर अभी तक मिलर व पैक्स के टैगिंग व एग्रीमेंट की प्रकिया ही पूरी हो पाई है।

जिले में अब तक 1355 किसानों से 900613 क्विंटल धान की खरीदारी
धान खरीद में अब तक जिले में मात्र 1355 किसानों से 900613 क्विंटल धान की खरीदारी हुई है। औराई में 33 किसानों से 3081 क्विंटल, बंदरा में 23 किसानों से 1845 क्विंटल, कुढ़नी में 181 किसानों से 12302 क्विंटल, बरूराज में 86 किसानों से 5758 क्विंटल, बोचहां में 92 किसानों से 6541 क्विंटल, मुराैल में 58 किसानों से 2242 क्विंटल, गायघाट में 72 किसानों से 5413 क्विंटल, कांटी में 82 किसानों से 5098 क्विंटल, कटरा में 15 किसानों से 788 क्विंटल, मड़वन में 64 किसानों से 3716 क्विंटल, मुशहरी में 130 किसानों से 12139 क्विंटल, मीनापुर में 134 किसानों से 9072 क्विंटल, पारू में 31 किसानों से 2214 क्विंटल, साहेबगंज में 82 किसानों से 8124 क्विंटल, सकरा में 198 किसानों से 7893.7 क्विंटल, सरैया में 74 किसानों से 3833 क्विंटल की खरीदारी अबतक हुई है।

मामले की होगी जांच : डीएम

  • जिला सहकारी संघ के बैनर तले सभी पैक्स अध्यक्षों ने इस मामले की जानकारी दी है। इसकी जांच कराई जाएगी। - प्रणव कुमार, डीएम मुजफ्फरपुर
खबरें और भी हैं...