बिना जांच किए कोरोना रिपोर्ट भेजने वाले पर होगी कार्रवाई:मुजफ्फरपुर में बिना जांच 40 बच्चों की आई थी कोरोना रिपोर्ट, मैसेज भेजने वाले वेरीफायर पर होगी FIR

मुजफ्फरपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मुजफ्फरपुर में बिना जांच किए 40 बच्चों की कोरोना रिपोर्ट का मैसेज आने वाले मामले पर संज्ञान लिया गया है। मैसेज भेजने वाले वेरीफायर पर कार्रवाई होगी। मैसेज भेजने वाले पर FIR दर्ज किया जाएगा साथ ही जिले में कोरोना से संबंधित जांच व टीकाकरण का गलत रिपोर्ट देने वालों पर भी सख्ती की जाएगी। मामले में सिविल सर्जन डॉ विनय कुमार शर्मा ने इसको लेकर समीक्षा बैठक की। जिसके बाद उन्होंने आदेश दिया है। बैठक में उन्होंने कहा कि कोरोना से सम्बंधित जांच सही तरीके से हो। बिना जांच व बिना टिके के किसी भी व्यक्ति पर मैसेज नही जाना चाहिए।

लक्ष्य पूरा नहीं करने पर कटरा व कुढ़नी प्रभारी का वेतन रुका
इधर, टीकाकरण का लक्ष्य पूरा नहीं करने को लेकर कटरा व कुढ़नी प्रभारी का अगले आदेश तक वेतन रोकने का आदेश दे दिया गया है। बताया जा रहा है कि सिविल सर्जन डॉ. विनय कुमार शर्मा ने कटरा और कुढ़नी के स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारियों का वेतन अगले आदेश तक स्थगित कर दिया है। इन दोनों प्रखंड में टीकाकरण लक्ष्य तक नहीं पहुंच पाया था। साथ ही राज्य स्वास्थ्य समिति ने बंदरा, बोचहां, गायघाट और कुढ़नी बीएचएम को शोकॉज किया है।

राज्य स्वास्थ्य समिति की और से जारी पत्र में कहा गया है कि 18 अक्टूबर को कोरोना टीका महाअभियान के दौरान टीके के वितरण के समय ये अनुपस्थित पाए गए थे। बीएचएम के अनुपस्थित रहने से कोरोना के टीके के वितरण में बुरा असर पड़ा और अभियान भी प्रभावित हुआ। राज्य स्वास्थ्य समिति ने सभी से 10 दिन के अंदर जवाब मांगा है।