इंटर परीक्षा:दो बेंच पर तीन छात्र बैठाने के नए प्लान से बढ़ीं मुश्किलें

मुजफ्फरपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना संकट के बीच होने वाली इंटर परीक्षा में अभ्यर्थियों से पहले व्यवस्था की परीक्षा होगी। - Dainik Bhaskar
कोरोना संकट के बीच होने वाली इंटर परीक्षा में अभ्यर्थियों से पहले व्यवस्था की परीक्षा होगी।

कोरोना संकट के बीच होने वाली इंटर परीक्षा में अभ्यर्थियों से पहले व्यवस्था की परीक्षा होगी। बदले सीटिंग प्लान के तहत अब दो बेंच पर तीन स्टूडेंट्स को ही बैठाना है। इससे जिले के 8 केंद्रों पर पंडाल-टेंट बनेगा। सीटिंग प्लान में पहली बेंच पर दो तो उसके ठीक पीछे एक स्टूडेंट को ही बैठाना है। इस कारण कई केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चुनौतीपूर्ण होगा। कांटी के आरसीएनडी कॉलेज में 2500 वर्गफीट का पंडाल का निर्माण होगा। वहीं, शहर के प्रभात तारा स्थित केंद्र पर भी 2000 वर्गफीट में पंडाल का निर्माण कराया जाएगा।

शुक्रवार को बीबी कॉलेजिएट में इंटर परीक्षा के नोडल पदाधिकारी इम्तियाज अहमद ने डीईओ अब्दुस सलाम अंसारी और केंद्राधीक्षकों के साथ तैयारियों की समीक्षा की। इसमें वैसे 38 केंद्राधीक्षकों को बुलाया गया था, जहां परीक्षा में बैठने के लिए बेंच-डेस्क कम पड़ रहे हैं और जहां पंडाल-टेंट का निर्माण होना है। बैठक में केंद्राधीक्षकों ने राशि की कमी होने की बात कही। इस पर अधिकारियों ने बताया, इसे लेकर बोर्ड को प्रस्ताव तैयार कर भेजा गया है। सभी केंद्रों पर हरहाल में 31 जनवरी को दोपहर 3 बजे तक बेंच-डेस्क की व्यवस्था को सुनिश्चित करना अनिवार्य है।

इन केंद्रों पर लगाए जाएंगे पंडाल
प्रभात तारा सीबीएसई ब्रांच - 2000 वर्गफीट
हाई स्कूल कांटी - 800 वर्गफीट
आरसीएनडी कॉलेज कांटी - 2500 वर्गफीट
मारवाड़ी प्लस टू स्कूल - 1400 वर्गफीट
महेश प्रसाद सिंह डिग्री कॉलेज बेला - 1800 वर्गफीट
आरकेपीएन हाई स्कूल बोचहां - 400 वर्गफीट
नीतीश्वर आयुर्वेद मेडिकल कॉलेज - 500 वर्गफीट। हरि सिंह हाई स्कूल छपरा कांटी - 700 वर्गफीट

खबरें और भी हैं...