पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्पीडी ट्रायल:बंदी की हत्या की प्रत्यक्षदर्शी गवाह मां ने कहा- तत्कालीन थानेदार के इशारे पर मारी गई थी गाेली

मुजफ्फरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नगर थाने के तत्कालीन थानेदार मनाेज सिंह अभी वैशाली के महनार में हैं थानाध्यक्ष
  • मामले की स्पीडी ट्रायल के तहत अभी न्यायालय में चल रही है सुनवाई

काेर्ट में पेशी के लिए ले जाते समय बंदी सूरज कुमार की कचहरी परिसर में 5 साल पहले हुई हत्या के मामले की प्रत्यक्षदर्शी गवाह उसकी मां ललिता देवी ने तत्कालीन नगर थानेदार मनाेज कुमार सिंह पर भी हत्या का आराेप लगाया है। सहायक लाेक अभियाेजक कृष्णदेव साह ने बताया कि ललिता ने काेर्ट में गवाही के दाैरान कहा कि हाजत से निकले पुत्र सूरज काे देखते ही थानेदार ने पहले से खड़े आराेपिताें काे इशारे से बताया।

उसके बाद बाइक सवार अपराधियाें ने उसके बेटे काे सामने से घेर कर गाेली मार दी। इससे उसकी माैत हाे गई थी। नगर थाने के तत्कालीन थानेदार मनाेज सिंह अभी वैशाली जिले के महनार के थानाध्यक्ष हैं। उधर, गवाही आराेप पर महनार थानेदार ने कहा कि सूरज काे गिरफ्तार कर उन्हाेंने ही जेल भेजा था।

उसकी गिरफ्तारी के समय से ही सूरज के परिजन मेरे खिलाफ कुछ न कुछ बाेलते रहते हैं। मामले के अनुसंधान में मेरे खिलाफ अन्य काेई साक्ष्य नहीं है। बता दें कि सूरज काे नगर थाने की पुलिस ने प्रिंस हत्याकांड में गिरफ्तार किया था। 11 अप्रैल 2016 काे उसकी पेशी काेर्ट में हाेनी थी। उसे जेल से काेर्ट हाजत लाया गया था। जैसे ही पेशी के लिए हाजत से बाहर लाया गया।

कुछ दूरी पर खड़े बाइक सवार अपराधियाें ने उसे पिस्टल से गाेली मार दी थी। मामले में उसे काेर्ट ले जा रहे सिपाही के बयान पर अज्ञात अपराधियाें के खिलाफ एफआईआर हुई थी। उसमें अनुसंधान के क्रम में प्रिंस के पिता माे. आरिफ, चाचा माे. आबिद, भाई इरशाद, शमशाद उर्फ औआ, खुर्शीद, दानिश, रिजवान समेत 10 लाेगाें पर चार्जशीट दायर की गई। आराेपित आरिफ की माैत हाे चुकी है। फिलहाल 9 आराेपिताें के खिलाफ न्यायालय में स्पीडी ट्रायल चल रहा है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें