पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पलायन संकट और लॉकडाउन:जिन श्रमिकों को एडवांस देकर बिहार से बुलाया, उन्हें अब लॉकडाउन की आशंका में वापस भेज रहे हैं फैक्ट्री मालिक

मुजफ्फरपुर22 दिन पहलेलेखक: शैलेश कुमार
  • कॉपी लिंक
एडवांस रुपए देकर बिहार से लाए गए मजदूरों को अब फैक्ट्री मालिक किराया देकर वापस घर भेज रहे हैं। - Dainik Bhaskar
एडवांस रुपए देकर बिहार से लाए गए मजदूरों को अब फैक्ट्री मालिक किराया देकर वापस घर भेज रहे हैं।
  • अहमदाबाद, दिल्ली व चेन्नई के फैक्ट्री मालिक कह रहे लॉकडाउन में कितने दिन बैठा कर खिलाएंगे

कोरोना की दूसरी लहर में बढ़ते संकट और लॉकडाउन की आशंका से दिल्ली, चेन्नई और अहमदाबाद जैसे बड़े शहरों में छोटी फैक्ट्रियां बंद होने लगी हैं। जिन कामगारों काे पहली लहर से उबरने के बाद इस साल जनवरी-फरवरी में एडवांस रुपए देकर बिहार से ले जाया गया था, उन्हें अब किराया देकर वापस घर भेजा जा रहा। हालांकि, पंजाब में अभी भी हालात कुछ अलग हैं।

वहां अधिकतर फसल कटनी हाे जाने के बाद श्रमिक अपनी गेहूं की फसल काटने लाैट रहे हैं। दिल्ली में ख्याला के आयुष इलेक्ट्रिकल्स के प्रोपराइटर दिलीप सिंह बताते हैं कि सीतामढ़ी के कारीगर को एडवांस देकर फैक्ट्री में बुलाया था। अब जिस तरह की स्थिति बन रही है, उसमें आशंका है कि लॉकडाउन हाे जाएगा। माल सप्लाई पहले ही प्रभावित हो चुकी है। पिछले साल लॉकडाउन में एक महीना मजदूरों को बिना काम कराए पेमेंट करना पड़ा था।

अभी धंधा मंदा पड़ चुका है। दो कारीगरों को रोक बाकी सभी को किराया देकर शनिवार काे सीतामढ़ी रवाना कर दिया। उनके मुताबिक ख्याला इंडस्ट्रियल इलाके में कई छोटी-छोटी फैक्ट्रियां बंद की जा चुकी हैं या बंदी के कगार पर हैं। हरियाणा में गुरुग्राम के प्लास्टिक फैक्ट्री संचालक रविंद्र ने कहा कि जिस तरह की स्थिति बन रही है, उसमें फैक्ट्री बंद करनी होगी। चेन्नई कोल्हातुर में चेन्नई सुनंदा के ट्रांसपोर्टर जालंधर साह बताते हैं कि मजदूरों का पलायन जारी है। बिहार के सभी स्टाफ काे हिसाब देकर घर भेजना शुरू कर चुके हैं।

बस संचालकों की मनमानी, स्लीपर में दो की जगह 5 को बैठा रहे

दिल्ली से बिहार आने वाली ट्रेनों में रिजर्वेशन नहीं हाेने का बस संचालक बेजा फायदा उठा रहे हैं। पहले 1200 रुपए प्रति सीट और 1300 रुपए स्लीपर का टिकट था। रविवार को मुजफ्फरपुर पहुंचे देवरिया के शंभू राय ने बताया कि बवाना में बस पकड़ी। स्लीपर में 5 मजदूरों को साथ बैठा दिया। सिटिंग का किराया अब 1500 से 2000 वसूला जा रहा है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें