पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ग्रामीण कार्य विभाग:मानसून शुरू होने में चंद दिन बचे, शुरू हुई गड्‌ढों की भराई ग्रामीण क्षेत्र की सड़कों के गड्ढे भरने काे 3 दिन का समय

मुजफ्फरपुर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्ट्रेट परिषद रोड में गड्ढा। - Dainik Bhaskar
कलेक्ट्रेट परिषद रोड में गड्ढा।
  • 27 संवेदकाें को दिया नोटिस, गड्ढे नहीं भरे जाने पर जब्त हाेगी जमानत राशि

2-3 दिनाें में जब मानसून की बारिश शुरू हाेनेवाली है तो ग्रामीण कार्य विभाग ने ठेकेदाराें को मेंटेनेंस पॉलिसी में शामिल सड़काें के गड्ढे भरने का अल्टीमेटम दिया है। जिले के पश्चिमी डिवीजन के 27 संवेदकों को 3 दिनों के अंदर गड्ढा नहीं भरने की जिम्मेवारी दी गई है। गड्ढे नहीं भरने पर जमानत राशि जब्त कर ली जाएगी। मेंटेनेंस पॉलिसी में ग्रामीण कार्य विभाग की तकरीबन 150 सड़कों के मेंटेनेंस को लेकर 27 अप्रैल को नोटिस जारी किया गया है। कई बड़े संवेदकों के जिम्मे 15 से 20 सड़काें का मेंटेनेंस है। साहेबगंज में सड़क का मेंटेनेंस गुरुवार को शुरू कर दिया गया।

पारु, मोतीपुर, बरूराज, सरैया व बोचहां इलाके में हर हाल में शुक्रवार से मेंटेनेंस शुरू कर देना है। मीनापुर में रघई घाट रोड बुरी तरह से जर्जर हो चुका है। यही स्थिति जसौली कांटा से कुड़िया रोड की है। इससे लाेगाें काे काफी परेशानी हाेती है। उधर, संवेदकाें ने मेंटेनेंस राशि नहीं मिलने सवाल उठाया है। अन्नू सिंह कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के प्रोपराइटर बालेंद्र सिंह ने कहा कि मेंटेनेंस के लिए इस साल अब तक सरकार द्वारा राशि नहीं दी गई है। दूसरी ओर कम से कम समय में सड़काें के गड्ढे भरने, दोनों तरफ जंगल साफ करने व पुल-पुलियाें को क्लीयर करने का अल्टीमेटम दिया जा रहा है। बगैर राशि के मेंटेनेंस कैसे संभव होगा।

इंजीनियर बाेले: कल्वर्ट भी साफ करना है

27 संवेदकों को 3 दिनों के अंदर गड्ढा भरने का नोटिस दिया गया है। मेंटेनेंस पॉलिसी में जितने पुल-पुलिया हैं, उनकी रंगाई भी करनी है। ग्रामीण क्षेत्रों में जलजमाव से बचने के लिए जो छोटे-छोटे कल्वर्ट हैं उन्हें भी साफ करना है। मेंटेनेंस नहीं करने पर संवेदक की जमानत राशि जब्त कर ली जाएगी।
-किशोर कुमार, एक्जीक्यूटिव इंजीनियर, ग्रामीण कार्य विभाग।

इधर, शहर की सड़काें के गड्ढे भरने काे अब तक काेई पहल नहीं
शहर की कई प्रमुख सड़कों में गड्ढे ही गड्ढे हैं। बल्कि, कलेक्ट्रेट परिसर की सड़क में भी बड़े-बड़े गड्ढा बन गए हैं। सदर अस्पताल रोड से कलेक्ट्रेट में प्रवेश करना हो या कमिश्नरी गेट से दोनों में गड्ढे हैं। एसएसपी ऑफिस के निकट तो और बदतर हालत है। लेकिन, शहर की सड़कों के गड्ढे भरने को लेकर नगर निगम ने अब तक कोई पहल नहीं की है। वार्ड 27 के पार्षद अजय ओझा ने गुरुवार को चंदा जुटा कर कच्ची सड़क पर राबिश डलवाई। कहा कि पिछले साल बारिश में लोग बहुत परेशान हुए थे। बीबीगंज रेलवे गुमटी के निकट पैदल निकलने में भी परेशानी है

खबरें और भी हैं...