• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Muzaffarpur
  • For Two Days, Only RTPCR Test Of Kareena Is Being Done, Danger: About 10 Thousand Passengers Coming From Kerala, Maharashtra, Tamil Nadu Are Going Home Without Investigation

जिले में एंटीजन किट की कमी:दो दिनों से काेराेना की हो रही सिर्फ आरटीपीसीआर जांच, खतरा : केरल, महाराष्ट्र, तमिलनाडु से आने वाले करीब 10 हजार यात्री बिना जांच के जा रहे घर

मुजफ्फरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दो दिनों से जिले में एंटीजन किट की कमी से दूसरे राज्यों से आनेवाली ट्रेनों से करीब दस हजार से अधिक यात्री बिना कोरोना जांच के घर जा रहे हैं। जंक्शन पर थर्मल स्क्रीनिंग से काम चलाया जा रहा है। सदर अस्पताल में भी जांच ठप है। सिर्फ आरटीपीसीआर जांच हुई।

इमलीचट्टी बस स्टैंड और पीएचसी में भी जांच नहीं हुई। इधर, सदर अस्पताल व इमलीचट्टी बस स्टैंड में एंटीजन किट से जांच नहीं होने के कारण बड़ी संख्या में लोग जांच के लिए पहुंचे और लाैट गए। पर्यवेक्षक मनोज कुमार ने कहा, रेलवे स्टेशन पर 6 काउंटर हैं। इसमें एक काउंटर आरटीपीसीआर के लिए चलाया जा रहा है।

वहीं, बस पड़ाव व सदर अस्पताल में काउंटर बंद हैं। बता दें कि केरल, महाराष्ट्र, पंजाब, तमिलनाडु आदि राज्यों में कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद डीएम प्रणव कुमार की अध्यक्षता में बैठक हुई थी। जिसमें तय हुआ था कि उक्त राज्यों से आने वाली ट्रेनों के सभी यात्रियों की जांच होगी। इसके लिए जीआरपी, आरपीएफ ने जंक्शन पर घेरा बनाया, लेकिन उसी दिन से एंटीजन किट खत्म हो गई।

40 बंदियाें की नहीं हुई काेराेना जांच | सदर अस्पताल में किट खत्म हाेने से रविवार काे विभिन्न थानाें से लाए गए करीब 40 बंदियाें की काेराेना जांच नहीं की जा सकी। उन्हें काेर्ट से वापस थाने ले जाना पड़ा।

चार हजार एंटीजन किट मिले, जिनसे सिर्फ जंक्शन पर हो सकेगी जांच
स्वास्थ्य राज्य मुख्यालय ने रविवार की देर शाम जिले को चार हजार एंटीजन किट उपलब्ध कराए। लेकिन, इससे सोमवार को सिर्फ जंक्शन पर यात्रियों की जांच होगी। सिविल सर्जन ने बताया कि मात्र 4000 किट 2 दिनों बाद भेजा गया है। ऐसे में सिर्फ केरल, तमिलनाडु और महाराष्ट्र से आने वाली ट्रेनों के यात्रियों की ही जांच हो सकेगी। सोमवार की शाम फिर किट मिलेगा, तभी मंगलवार को जांच होगी।

खबरें और भी हैं...