मुजफ्फरपुर तेजाब कांड में FSL ने जुटाए साक्ष्य:DSP ने भी घटनास्थल पर पहुंचकर की जांच, तकिया और चादर जांच को ले गयी टीम, पुत्र ने चोरी करने की कही बात

मुजफ्फरपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
घटनास्थल पर लगी लोगों की भीड़। - Dainik Bhaskar
घटनास्थल पर लगी लोगों की भीड़।

मुजफ्फरपुर के सकरा थाना क्षेत्र के केशोपुर गांव में विधवा रुक्मिणी देवी की तेज़ाब से जलाकर हत्या मामले में जांच तेज़ कर दी गयी है। शनिवार को FSL की टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर छानबीन की। तीन सदस्यीय टीम ने उस कमरे में बारीकी से जांच किया। जिसमें इस दर्दनाक घटना को अंजाम दिया गया था। उसमें से आज भी तेज़ाब की महक आ रही थी। कमरे में बिखरे सामान इस बात की गवाही दे रहे थे कि घटना से पूर्व महिला ने आरोपितों का पुरजोर विरोध किया था। कमरा अस्त-व्यस्त था। बक्शा-पेटी का सामान भी बिखरा हुआ था।

FSL टीम ने कमरे से साक्ष्य के तौर पर एक तकिया और बिछावन का चादर समेत अन्य सामान संकलित किया। करीब दो घंटे तक जांच करने के बाद टीम वहां से रवाना हो गयी। इस दौरान काफी संख्या में लोगों की भीड़ भी मौके पर मौजूद रही।

DSP ने आसपास के लोगों से की पूछताछ

घटना को गम्भीरता से लेते हुए DSP पूर्वी मनोज पांडेय भी घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने अपने स्तर से जांच किया। आसपास के लोगों से पूछताछ भी की। लेकिन, किसी ने ठोस जानकारी नही दी। लोगों ने बताया कि महिला घर मे ज़्यादा रहती है। किसी से अधिक मिलती जुलती नहीं है। इस कारण कोई ठोस जानकारी उनलोगों के पास नहीं है।

पुत्र ने पुलिस को दिया बयान

मृत महिला का बेटा गणेश कुमार दिल्ली से पहुंचा। उसने पुलिस को बयान दिया। इसमे बताया कि कमरे से सभी जेवरात समेत अन्य कीमती सामान की चोरी कर ली गयी है। आशंका जताई कि चोरों का विरोध करने पर उसकी मां को तेज़ाब से जलाकर मार दिया गया। हालांकि, शव मिलने के 24 घन्टे बाद भी पुलिस यह नहीं तय कर सकी है कि ये स्पष्ट रूप से चोरी को लेकर किया गया वारदात है या हत्या। जिसे चोरी का रूप देकर पुलिस को भटकाने की साजिश है।

क्योंकि आम तौर पर कोई चोर तेज़ाब लेकर चोरी नहीं करने जाता है। इससे प्रतीत होता है कि यह स्पष्ट तौर पर हत्या है। जिसे चोरी का रूप दिया जा रहा है। DSP पूर्वी ने कहा कि सभी बिन्दुओ पर जांच चल रही है। शीघ्र ही घटना का उद्भेदन किया जाएगा। बता दें कि शुक्रवार को महिला का क्षत-विक्षत शव घर से बरामद हुआ था। लाश देखने से लगा था कि यह तीन से चार दिन पुराना है।

खबरें और भी हैं...