पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सतर्कता बरतें:घर के बड़े वैक्सीन ले लें तो बच्चों पर प्रभाव कम

सीतामढ़ी14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सतर्कता से हाेगी बच्चों की रिकवरी दर बेहतर

कोरोना की दूसरी लहर के बाद अब तीसरी लहर दस्तक दे सकती है। इसमें सबसे अधिक बच्चों पर असर पड़ने की बात कही जा रही है लेकिन, अगर घर के बड़े लोग अधिक से अधिक संख्या में वैक्सीन ले लें तो बच्चों पर कोरोना का प्रभाव कम पड़ेगा। बशर्ते यह ध्यान रखना पड़ेगा कि बाहर जाने पर वे सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल जरूर रखें, मास्क का इस्तेमाल करें। उक्त बातें अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ. रविंद्र कुमार यादव ने कहा।

सदर अस्पताल के शिशु रोग विशेषज्ञ दाे डॉक्टर की प्रतिनियुक्ति की गई है। बच्चों को कोरोना होने पर घबराने की जरूरत नहीं है। समय रहते डॉक्टर से इलाज करवाएं और उनकी बताई गई दवा खिलाए ताे एक से डेढ़ प्रतिशत बच्चे को ही वेंटिलेटर की जरूरत होगी। बाकी दवा से ही ठीक हो जाते हैं। घरों के बड़े अगर वैक्सीन ले लें तो बच्चे और भी सुरक्षित हो जाएंगे।

सदर अस्पताल में प्रबंधक शंभू शरण सिंह बताते है कि तीसरी लहर में बच्चों पर कोरोना का असर कितना होगा अभी कहना मुश्किल है। लेकिन एक्सपर्ट अलग-अलग रिसर्च के अनुसार बता रहे हैं कि यह ज्यादा गंभीर नहीं होगा। बच्चे की रिकवरी रेट भी ज्यादा है। हमलोगों ने अस्पताल में तैयारी शुरू कर दी है। सदर अस्पताल में पूर्व से 12 बेड का ऑक्सीजन युक्त एसएनआईसीयू कार्य कर रहा है।

सदर अस्पताल में 12 बेड का एसएनसीयू व 100 बेड का एमसीएच तैयार है। वहीं चार शिशु राेग विशेषज्ञ की विशेष रूप से प्रतिनियुक्ति की गई है। वाक इन इंटरव्यू के माध्यम से डाॅक्टराें की बहाली करने की प्रक्रिया जारी है।
- डाॅ. रविंद्र कुमार यादव, अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी, सीतामढ़ी।

खबरें और भी हैं...