पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दुकान में नहीं थी आग बुझाने की व्यवस्था:धूप-दीया काे छिपकली ने पेंट के डब्बे पर गिरायाबैट्री दुकान में लगी आग, लाखों की क्षति का दावा

मुजफ्फरपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आमगोला में लगी भीषण आग को बुझाते फायर ब्रिगेड के कर्मी। - Dainik Bhaskar
आमगोला में लगी भीषण आग को बुझाते फायर ब्रिगेड के कर्मी।
  • शहर के आमगाेला में ओरियंट क्लब के पास घटी घटना, दमकल की दाे यूनिट ने डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद बुझाई आग

पूजा के लिए जलाए गए धूप व दिया काे छिपकली ने पेंट भरे प्लास्टिक डब्बे पर गिरा दिया। इससे आग लग गई। दुकान में प्लास्टिक बॉडी वाली बैटरियां भी थीं। पेंट के डिब्बाें के साथ बैटरियां भी धू-धू कर जलने लगीं। दुकान में अाग बुझाने का काेई इंतजाम पहले से नहीं था। घटना साेमवार की सुबह 9.30 बजे के करीब आमगाेला में ओरियंट क्लब के पास स्थित संजय सिंह की बैट्री और कार एक्सेसरीज की दुकान में घटी। अाग की लपटें काफी तेज थीं। आसपास के दुकानदार आग फैलने के डर से सामान बाहर निकालने लगे। भीड़ भी जुटी थी, लेकिन काेई आग बुझाने की हिम्मत नहीं जुटा पाया।

फायर ब्रिगेड काे फाेन नहीं लग सका, ताे स्थानीय काजी मोहम्मदपुर थाने को सूचना दी गई। वायरलेस मैसेज के बाद पहले थाने से छाेटी मिक्स्ड मशीन वाली दमकल गाड़ी पहुंची। फिर दमकल बड़ी युनिट बुलाई गई। बाद में दूसरी दमकल गाड़ी बुलाई गई। फिर एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। लेकिन, पूरी तरह से आग बुझाने में तीन घंटे लगे। दुकानदार संजय सिंह ने कहा कि सारा माल जल गया। उन्होंने लाखों रुपए की क्षति का दावा किया। बताया कि दुकान खुलने के कुछ देर बाद ही पंडित जी ने पूजा की थी। दीया और धूप जल रहा था। उसे संभवत: छिपकली ने गिरा दिया। इसी वजह सेआग लगी।

दुकान में नहीं थी आग बुझाने की व्यवस्था
आग बुझाने वाली टीम में शामिल अग्निक कृष्णा यादव ने बताया कि दुकान में अाग बुझाने की काेई व्यवस्था नहीं थी। अग्निशमन यंत्र, बालू या पानी अादि नहीं रहने के कारण स्थिति बेकाबू हुई। दुकान में अाग से बचाव की काेई व्यवस्था नहीं हाेने की रिपोर्ट तैयार की गई है।

लाेड के मुताबिक वायरिंग नहीं हाेने से भी गर्मी में लग रही आग
^इस साल गर्मी के शुरुआत में ही अगलगी की घटनाएं जाेर पकड़ चुकी है। अगलगी की तमाम बड़ी घटना बिजली के शॉर्ट सर्किट से ही हुई। शॉर्ट सर्किट का मुख्य कारण लाेड की तुलना में वायरिंग कमजोर हाेना है। गर्मी में एयर कंडीशनर, कूलर और पंखे चलने के कारण लाेड बढ़ जाता है। कम क्षमता का तार गर्म हाे जाता है। इससे वायर का प्लास्टिक कवर पिघलता है। फिर पॉजिटिव और निगेटिव तार के सट जाने से चिंगारी निकलती है। शॉर्ट सर्किट का दूसरा बड़ा कारण वायर का लूज कनेक्शन है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें