बॉयलर विस्फोट:दो उद्योगों में सुरक्षा मानकों में जांच दल को मिलीं कमियां, जीएम को सौंपी जांच रिपोर्ट

मुजफ्फरपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बियाडा औद्योगिक क्षेत्र के उद्योग सुरक्षा मानकों पर खरे नहीं उतर रहे हैं। - Dainik Bhaskar
बियाडा औद्योगिक क्षेत्र के उद्योग सुरक्षा मानकों पर खरे नहीं उतर रहे हैं।

बियाडा औद्योगिक क्षेत्र के उद्योग सुरक्षा मानकों पर खरे नहीं उतर रहे हैं। फायर सेफ्टी के इंतजाम हो या मशीनों का रखरखाव, इसमें शिथिलता बरती जा रही है। नूडल्स फैक्ट्री में पिछले साल के अंत में ब्लास्ट के बाद अन्य उद्योगों की जांच में भी कुछ कमियां सामने आई हैं।

जांच के बाद बियाडा, अग्निशमन, फैक्ट्री एवं बॉयलर इंस्पेक्टर ने अपनी रिपोर्ट जिला उद्योग केंद्र के जीएम को सौंप दी है। बियाडा और इसके बाहर जिले में कुल 31 बॉयलर वाले उद्योग हैं। इन सभी की बारी-बारी से जांच होनी है। डीएम ने घटना के बाद सभी उद्योगों का सुरक्षा मानकों का संयुक्त रूप से स्थल निरीक्षण कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया था।

आदेश के बाद गत 7 जनवरी को जांच दल ने दो एग्रो इंडस्ट्री की जांच की थी। उद्योग विभाग के जीएम परिमल कुमार सिन्हा ने कहा कि जांच में बड़ी गड़बड़ी सामने नहीं आई है। सेफ्टी के इंतजाम समेत कुछ कमियां इंगित की गई हैं, जिसे दूर करने के निर्देश दिए जाएंगे।

सुपरवाइजर की गिरफ्तारी के लिए पटना में छापेमारी

बेला में फैक्ट्री के बॉयलर ब्लास्ट मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। गुरुवार को बेला पुलिस व एसआईटी ने सुपरवाइजर दिग्विजय कुमार और राहुल कुमार की तलाश में पटना और वैशाली में छापेमारी की। दिग्विजय कुमार पटना का रहने वाला है, जबकि राहुल वैशाली का है। बता दें कि सुपरवाइजर दिग्विजय ने कोर्ट में बेल के लिए अर्जी दाखिल की है।।

खबरें और भी हैं...