आरएलडीए ने शुरू किया कार्य:तीन साल में वर्ल्ड क्लास स्टेशन के रूप में विकसित होगा जंक्शन

मुजफ्फरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आरएलडीए ने जारी किया थ्री डी नक्शा, एनओसी को लेकर इसी सप्ताह जिला प्रशासन के साथ बैठक, कटही पुल के समीप 40 मीटर चौड़ा नया एफओबी बनेगा

3 साल बाद मुजफ्फरपुर जंक्शन वर्ल्ड क्लास स्टेशन के रूप में विकसित हो जाएगा। इसके लिए रेल भूमि विकास प्राधिकरण (आरएलडीए) ने कार्य शुरू कर दिया है। वहीं, सोनपुर मंडल को थ्री डी डीपीआर व एनओसी स्वीकृति के लिए प्रपोजल भेजा है। एनओसी को लेकर इसी सप्ताह जिला प्रशासन के साथ बैठक होगी। एनओसी मिल जाने के बाद टेंडर निकाला जाएगा।

अगले 6 माह के अंदर धरातल पर काम दिखने लगेगा। आरएलडीए के संयुक्त महाप्रबंधक (परियोजना) प्रभात रंजन सिंह ने बताया कि रेल मंत्रालय ने मुजफ्फरपुर जंक्शन समेत देश के 39 स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास बनाने के लिए चयनित किया है। जंक्शन की डीपीआर वर्ष 2065 में यात्रियों की संभावित संख्या को ध्यान में रखकर बनाई गई है।

आरएलडीए के संयुक्त महाप्रबंधक (परियोजना) बोले- 6 माह के अंदर धरातल पर दिखने लगेगा काम

सर्कुलेटिंग एरिया में बनेगा एलिवेटेड रोड
डीपीआर के अनुसार, एईएन कार्यालय से मालगोदाम तक सर्कुलेटिंग एरिया में एलिवेटेड रोड बनेगा। जो लोग चारपहिया वाहन से स्टेशन आएंगे, वे इसी एलिवेटेड रोड से होकर आरपीएफ के समीप बनने वाले 125 फीट चौड़े व करीब 300 फीट लंबे डिपार्चर कॉन्कोर्न में सीधे उतरेंगे। वहां से 2, 3, 4 व 5 नंबर प्लेटफॉर्म पर जाकर ट्रेन पकड़ेंगे। इस कॉन्कोर्न में करीब 2000 लोगों के एक साथ बैठने की व्यवस्था रहेगी।

ग्राउंड फ्लोर पर सिर्फ टीटीई, एएसएम और आरपीएफ कार्यालय रहेंगे
प्लेटफॉर्म पर अफरातफरी व भीड़भाड़ की स्थिति से बचाने के लिए ग्राउंड फ्लोर पर सिर्फ टीटीई, एएसएम और आरपीएफ कार्यालय रहेंगे। स्टेशन अधीक्षक, स्टेशन डायरेक्टर, डीसीआई, लॉबी, कोचिंग डिपो, साफ-सफाई समेत अन्य कार्यालय फर्स्ट फ्लोर पर शिफ्ट होंगे। वहीं, पार्सल कार्यालय को आरपीएफ बैरक के पास शिफ्ट किया जाएगा।

तीसरे, चौथे व पांचवें मंजिल पर पार्किंग
वर्तमान में जहां इंजीनियरिंग विभाग का कार्यालय है, उसे तोड़कर 5 मंजिला मल्टीपर्पस बिल्डिंग का निर्माण होगा। इसमें ग्राउंड फ्लोर पर आवश्यक सामान की दुकानें रहेंगी। फर्स्ट फ्लोर पर आरक्षण कार्यालय होगा। तीसरे, चौथे व पांचवें मंजिल पर वाहन पार्किंग की व्यवस्था होगी। इस पार्किंग का कटही पुल के समीप बनने वाले 40 मीटर चौड़े एफओबी से संपर्क होगा।

कटही पुल से मालगोदाम तक 800 मी. लंबा होगा सर्कुलेटिंग एरिया
जंक्शन के उत्तरी साइड का सर्कुलेटिंग एरिया करीब 800 मीटर लंबा होगा। यह कटही पुल से मालगोदाम तक होगा। इसी में एलिवेटेड रोड बनाया जाएगा। सभी प्रवेश द्वार पर अनारक्षित टिकट काउंटर रहेगा। इसके साथ ही जंक्शन के दक्षिणी साइड को भी विकसित किया जाएगा। सिटी बस के लिए सर्कुलेटिंग एरिया में अलग लेन बनेगी।

खबरें और भी हैं...