मुजफ्फरपुर में कोरोना मरीज के इलाज का मॉक ड्रिल:220 बेड का नया कोरोना वार्ड बनकर तैयार, 24 घंटे डॉक्टरों की टीम के साथ एंबुलेंस रहेगी तैयार

मुजफ्फरपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोविड केयर सेंटर में मॉक ड्रिल करते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
कोविड केयर सेंटर में मॉक ड्रिल करते अधिकारी।

मुजफ्फरपुर में शुक्रवार को कोरोना मरीज का कैसे इलाज किया जाएगा और उसे कैसे भर्ती करना है। इसे लेकर शुक्रवार को मॉक ड्रिल किया गया। सिविल सर्जन डॉ.विनय कुमार शर्मा के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मॉक ड्रिल किया। मोतीझील में बिहार विद्यालय शिक्षा परियोजना भवन में 220 बेड का नया कोरोना वार्ड बनकर तैयार हुआ है। इसी में मॉक ड्रिल किया गया। सिविल सर्जन ने पहले स्वास्थ्य विभाग की टीम को तरीके बताए। फिर एक्सपर्ट के साथ इसे करके अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को दिखाया गया।

मॉक ड्रिल के दौरान एक व्यक्ति को कोरोना मरीज बनाकर लाया गया। इसके बाद फौरन उसे एक्सपर्ट टीम लेकर वार्ड में जाती है। बेड पर कार्डिक मॉनिटर, ऑक्सिजन कॉन्सन्ट्रेटर और वेंटिलेटर लगा है। इससे जांच किया गया। फिर उसका ब्लड शुगर, टेम्प्रेचर और ब्लड प्रेशर देखा जाता है। यहां ICU की व्यवस्था भी है। जांच और उसके लक्षण से पता किया जाता है कि वह गम्भीर है या सामान्य है। उसी अनुसार उसे ICU या जेनेरल वार्ड में भर्ती किया जाता है। फिर उसका इलाज शुरू होता है।

डॉक्टर और एम्बुलेंस तैनात
सिविल सर्जन ने बताया कि इस नए कोविड केयर सेंटर में 24 घंटे डॉक्टरों की टीम के साथ एम्बुलेंस की व्यवस्था है। कॉल सेंटर से इसे टैग किया गया है। वहां से जैसे ही किसी मरीज के सम्बंध में सूचना मिलेगी। यहां से एम्बुलेंस के साथ टीम रवाना हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...