पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बकरीद:हर्षोल्लास के साथ मनी बकरीद, बाबा इब्राहिम की याद में कुर्बान किए बकरे

मुजफ्फरपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना संक्रमण के बीच सभी कार्यक्रम में मॉस्क और सोशल डिस्टेंसिंग का रखा गया पूरा ध्यान

कोरोना वायरस के चलते इस बार बकरीद का त्योहार सामान्य नहीं था, फिर भी इस मुश्किल समय में शनिवार को हर्षोल्लास के साथ ईद उल अजहा यानी बकरीद मनाई गई। घर में दो रिकत वाजिब नमाज अदा करने के बाद सबने एक-दूसरे को बधाई दी। इसके बाद बकरे को अल्लाह की रजा के लिए कुर्बान किया गया। बकरे के गोश्त से बनाई गई डिश की महक मुस्लिम मोहल्लों में छाई रही। कुर्बानी के मीट एक-दूसरे के घर तबर्रुक के तौर पर भेजे गए। जिले में इस बार सात बजे तक ईद उल अजहा की नमाज अदा कर ली गई। मस्जिदों के इमाम और उलेमाओं ने सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के तहत घर में ही नमाज अदा करने की अपील की थी। कोरोना के कारण उत्पन्न मंदी के बीच शहर से लेकर देहात तक रौनक रही।

लाॅकडाउन के कारण बाहर से वर्षों बाद आए लोगाें ने भी परिवार के साथ पर्व मनाया। मौलाना ने बताया, इस्लामिक कैलेंडर के 12वें महीने की 10 तारीख को बकरीद या ईद-उल-जुहा मनाया जाता है। इस्लामिक मान्यताओं के अनुसार, हजरत इब्राहिम ने अपने बेटे हजरत इस्माइल को इसी दिन खुदा के हुक्म पर खुदा की राह में कुर्बान करने की कोशिश की। माना जाता है कि खुदा ने उनके जज्बे को देखकर उनके बेटे को जीवनदान दिया और उनकी जगह बकरा जिबह हुआ। मौलाना ने कहा कि बकरीद से हमें यह सीख मिलती है कि अल्ल्लाह के लिए अपनी प्यारी से प्यारी चीज को कुर्बान कर देना है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें