पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

निजी नर्सिंग होम में 8 घंटे चला इलाज:जहरीली शराब से मुराैल के युवक की माैत, पिता ने दाे लाेगों पर हत्या के आराेप में दर्ज कराई प्राथमिकी

मुराैल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • रात होने के बाद अशाेक ने फाेन कर बताया कि अधिक रात हो गई है इसलिए वह अब सुबह में ही लौटेगा
  • डॉक्टर के अनुसार डैमेज हाे गया था अशोक का लीवर

ईटहा रसूल नगर गांव के 25 वर्षीय अशोक कुमार उर्फ सुजीत की सोमवार की रात जहरीली शराब से माैत हाे गई। उसे मनियारी थाने के चकभिखी गांव में शराब पिलाई गई थी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया। मृतक अशाेक के पिता रामनाथ राय ने ग्रामीण धर्मेंद्र कुमार व चकभिक्खी निवासी मिथिलेश कुमार पर जहरीली शराब पिलाकर बेटे की हत्या का आराेप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है। बताया कि 28 मार्च को उसके पुत्र अशाेक की गाड़ी भाड़े कर आराेपी धर्मेंद्र कुमार अपने ससुराल मनियारी थाने के चकभिखी गांव ले गया था। वह बताया था कि ससुराल में सास की तबीयत खराब है।

रात होने के बाद अशाेक ने फाेन कर बताया कि अधिक रात हो गई है इसलिए वह अब सुबह में ही लौटेगा। मंगलवार सुबह जब अशोक घर आया ताे उसकी तबीयत खराब थी। उसे दिखाई नहीं दे रहा था। आनन-फानन में सकरा अस्पताल ले गए। यहां से रेफर कर दिया गया। शहर के एक निजी नर्सिंग होम में करीब 8 घंटे तक इलाज चला, जहां रात 2 बजे उसकी मौत हो गई। पिता का कहना है कि अशोक ने बताया था कि धर्मेंद्र व उसके साला मिथिलेश ने चकभिखी में ही शराब पिलाई थी। रामनाथ राय ने बताया कि निजी नर्सिंग होम के चिकित्सकों ने उससे कहा कि जहरीली शराब से अशाेक का लीवर खराब हो चुका है। इधर, थानाध्यक्ष रामनाथ प्रसाद ने बताया कि अशोक अपने मित्र के साथ उसके ससुराल गया था, जहां से लाैटने के बाद तबीयत बिगड़ने के कारण उसकी मौत हो गई है। जहर मिली शराब पिलाकर हत्या करने का आराेप लगाया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही मौत के कारण का चलेगा पता। फिलहाल गांव में पुलिस कैंप कर रही है। आराेपित गांव से फरार हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें