मुजफ्फरपुर में शराब माफियाओं के 3 शागिर्द पकड़ाए:मिठनपुरा के फ्लैट से चल रहा था कारोबार, 4 रजिस्टर में मिला अरबों का हिसाब

मुजफ्फरपुर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस गिरफ्त में तीनों तस्कर। - Dainik Bhaskar
पुलिस गिरफ्त में तीनों तस्कर।

मुजफ्फरपुर जिले के मिठनपुरा थाना क्षेत्र के एक अपार्टमेंट में किराए के फ्लैट से शराब के धंधे का बड़ा नेटवर्क चल रहा था। मिठनपुरा पुलिस ने छापेमारी कर मौके से तीन युवकों को गिरफ्तार किया है। तीनों युवक शराब माफिया चुन्नू ठाकुर व रवि मास्टर के शागिर्द हैं। इनके पास से नकद 32,910 रुपए, दो देसी पिस्टल, तीन कारतूस, दो लक्जरी कार, 1 बुलेट बाइक, लैपटॉप, 5 मोबाइल, शराब की बोतलें व कुछ कागजात मिले हैं। इसके अलावा,4 रजिस्टर भी बरामद किया गया है। बताया जा रहा है कि रजिस्टर में अरबों रुपए के लेनदेन का हिसाब है।

पुलिस ने गिरफ्तार शातिरों से पूछताछ की है। गिरफ्तार आरोपियों में वैशाली जिले के पातेपुर थाना के हरलोचनपुर सुक्की निवासी अमित कुमार, कुढ़नी थाना के खरौना डीह निवासी उज्ज्वल कुमार व कुढ़नी थाना के चढूआ निवासी दीपक कुमार शामिल है। अमित वर्तमान में सदर थाना क्षेत्र के बीबीगंज नन्दपुरी इलाके में किराए के मकान में रह रहा था। जबकि, उज्ज्वल सदर थाना के यादव नगर इलाके में रह रहा था। सभी से पूछताछ की गई है। तीनों के खिलाफ एसआई विजय कुमार सिन्हा के बयान पर एफआईआर दर्ज की गई है।

तीनों तस्करों के पास से बरामद सामान।
तीनों तस्करों के पास से बरामद सामान।

दूसरे राज्यों से आती थी शराब की खेप, इनका काम था ठिकाने लगाना व पैसों का लेनदेन
पुलिस के अनुसार पूछताछ में तीनों ने बताया है कि चुन्नू व रवि दूसरे राज्यों से शराब की खेप मंगाते हैं। इनका काम पैसों के लेनदेन से लेकर शराब की खेप को ठिकाने लगाने का है। इसके लिए इन्होंने दो महीने पहले अपार्टमेंट में फ्लैट किराए पर लिया था। यहां से कारोबार चल रहा था।

उन्होंने पुलिस से कहा कि हाइवे व सुनसान इलाकों में शराब की खेप खपाई जाती है। वहां से अलग-अलग जिलों में भेजा जाता है। पुलिस के अनुसार शराब की खेप दरभंगा, वैशाली, छपरा, समस्तीपुर समेत अन्य जिलों में भेजी जाती है।

हालांकि, चारों रजिस्टर में मिली जानकारियों पर पुलिस कुछ भी बताने से इनकार कर रही है। फिलहाल पूछताछ के बाद तीनों को न्यायिक हिरासत में भेजने की तैयारी कर रही है।