मुजफ्फरपुर में बिना लड़े ही जीत गए 117 उम्मीदवार:कुढ़नी में नामांकन समाप्त, 115 वार्ड सदस्य और दो पंच हुए निर्विरोध निर्वाचित, 29 नामांकन हुए रद्द

मुजफ्फरपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रचार के लिए तीन पहिया वाहनों का परमिट प्रखंड निर्वाचन कार्यालय तो लाउडस्पीकर के लिए SDO कार्यालय जाना होगा। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
प्रचार के लिए तीन पहिया वाहनों का परमिट प्रखंड निर्वाचन कार्यालय तो लाउडस्पीकर के लिए SDO कार्यालय जाना होगा। (फाइल फोटो)

मुजफ्फरपुर में चार प्रखंडो के चुनाव और मतगणना सम्पन्न हो चुके हैं। अब मुशहरी और बोचहां प्रखंड में 20 अक्टूबर को चुनाव होना है। इसके बाद 24 को कुढ़नी प्रखंड में होगा। बता दें 38 पंचायत वाला कुढ़नी प्रखंड जिले का सबसे बड़ा प्रखंड है। यहां इनदिनों चुनावी सरगर्मी तेज़ है।

नामांकन प्रक्रिया सम्पन्न हो चुकी है। जिसके साथ ही बिना चुनाव लड़े ही 117 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला हो गया। वे निर्विरोध चुने गए हैं। इसमें सबसे अधिक 115 वार्ड सदस्य और दो पंच हैं। 16 वार्ड सदस्यों ने नामांकन वापस ले लिया है। वहीं 19 वार्ड सदस्य और पंच के 10 नामांकन रद्द कर दिए गए हैं।

प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी संजीव कुमार ने इसकी जानकारी दी। बताया कि फॉर्म में गलती होने के कारण नामांकन रद्द हुआ है। वहीं मुखिया, सरपंच और पंसस के आवेदन सही पाए गए हैं। इन्हें चुनाव चिन्ह दे दिया गया है।

तीन पहिया वाहन का मिलेगा परमिट
मुखिया, सरपंच और पंसस पद के प्रचार के लिए तीन पहिया वाहनों का परमिट मिलेगा। इसके लिए प्रखंड निर्वाचन कार्यालय में उम्मीदवारों को आवेदन देना होगा। वहीं लाउडस्पीकर के लिए SDO पश्चिमी के कार्यालय में आवेदन करना होगा। प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी द्वारा स्पष्ट किया गया है कि एक से अधिक वाहनों से प्रचार करते पकड़े जाने पर FIR भी दर्ज की जाएगी।

चुनाव ड्यूटी से गायब कर्मियों पर FIR
मुशहरी BDO ने चुनाव कार्य मे लगाए गए चार कर्मियों पर ड्यूटी से गायब और लापरवाही बरतने के आरोप में थाना में FIR दर्ज करने के लिए आवेदन दिया है। इसमे बताया गया कि ये चारों अक्सर चुनाव ड्यूटी से गायब पाए जा रहे हैं। पूछने पर कोई जबाव नहीं दिया गया है। थानेदार शशिभूषण कुमार ने बताया कि आवेदन मिला है। जांच कर कार्रवाई की जा रही है।

खबरें और भी हैं...