मुंबई से कुख्यात अपराधी मंटू शर्मा गिरफ्तार:मुजफ्फरपुर पुलिस की स्पेशल टीम ने दबोचा, फ्लाइट से लाया जा रहा पटना

मुजफ्फरपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कुख्यात मंटू का दो दशक से अपराध की दुनिया में दबदबा। - Dainik Bhaskar
कुख्यात मंटू का दो दशक से अपराध की दुनिया में दबदबा।

मुजफ्फरपुर पुलिस की स्पेशल टीम ने शुक्रवार को कुख्यात अपराधी मंटू शर्मा उर्फ प्रद्युमन शर्मा को गिरफ्तार कर लिया है। उसकी गिरफ्तारी मुंबई से हुई है। उसे फ्लाइट से पटना लाया जा रहा है। वहां से उसे कड़ी सुरक्षा में मुजफ्फरपुर लाया जाएगा। मंटू की गिरफ्तारी जिला पुलिस के लिए बहुत अहम उपलब्धि है। दो दशक से अधिक से अपराध की दुनिया में वह सक्रिय रहा है। सीपीडब्ल्यूडी की ठेकेदारी में उसका दबदबा रहा है।

सूत्रों की माने तो हाल में मिठनपुरा के प्रॉपर्टी डीलर विक्कू सिंह उर्फ बिजेंद्र कुमार से 50 लाख रुपये रंगदारी मांगने के मामले में गिरफ्तारी बतायी जा रही है। मंटू के खिलाफ पटना व मुजफ्फरपुर में हत्या व रंगदारी के कई मामले भी दर्ज है। पुलिस अपराधिक इतिहास को खंगालने में जुट गयी है। मंटू शर्मा को सीपीडब्ल्यूडी का टेंडर मैनेजर करने का मास्टर माना जाता रहा है।

छपरा का रहने वाला है मंटू

हालांकि पुलिस अभी मंटू शर्मा के गिरफ्तारी की अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं कर रही है। लेकिन, महकमे में जोरशोर से इसकी चर्चा है। SSP जयंतकांत ने कहा की अभी थोड़ा इंतजार कीजिए। मालूम हो कि, मंटू शर्मा मूलत: सारण (छपरा) जिला के परसा थाना के बहलोलपुर गांव का रहने वाला है। लेकिन, मुजफ्फरपुर के अलावा बिहार के कई शहर, उत्तर प्रदेश, दिल्ली आदि महानगरों में अचल संपत्ति अर्जित किये हुए है।

कई दिनों से पीछे लगी थी विशेष टीम

बताया जाता है कि पुलिस की विशेष टीम कई दिनों के मंटू शर्मा के पीछे लगी थी। वह गुरुवार को दूसरे राज्य में था। वहीं शुक्रवार को उसका लोकेशन पुलिस को मुंबइ में मिला। इसके बाद लोकेशन को ट्रैप करते हुए पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी की है। चर्चा है कि उसके पास से मोटी रकम और आर्म्स भी मिले है। हालांकि, इसकी अधिकारिक पुष्टी नहीं हो सकी है।

लखनऊ से 2014 में हुयी थी मंटू की गिरफ्तारी

पुलिस रिकॉर्ड की माने तो मुशहरी स्थित राष्ट्रीय लीची अनुसंधान के गार्ड रितेश हत्याकांड में मंटू शर्मा की गिरफ्तारी 2014 में लखनऊ से हुयी थी। एसटीएफ की टीम ने उसे लखनऊ के गोमती नगर में मुठभेड़ के बाद दबोचा था। इसके बाद उसे कड़ी सुरक्षा में मुजफ्फरपुर लाया था। इस दौरान कुछ माह के लिए जेल में रहा था। इसके बाद सभी मामले में कोर्ट से जमानत ले लिया था. मिठनपुरा रंगदारी कांड में भी जमानत याचिका दाखिल करने की तैयारी में था।

पूर्व मेयर मर्डर केस में जमानत पर है मंटू शर्मा

पुलिस रिकॉर्ड की माने तो मंटू शर्मा पूर्व मेयर समीर कुमार के हत्या में अप्राथमिक आरोपित है। लेकिन, इस मामले में वह जमानत पर है। साथ ही पूर्व मेयर समीर कुमार हत्याकांड के जांच में ही उसका नाम है। अब रंगदारी मामले के अलावा पूर्व मेयर समीर कुमार हत्याकांड में भी मंटू शर्मा से पुलिस पूछताछ की गोपनीय तरीके से तैयारी कर रही है।

खबरें और भी हैं...