• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Muzaffarpur
  • Muzaffarpur, The Third Most Polluted City In The State And Fourth In The Country; Conditions Will Be Dangerous If The Cold Increases

बढ़ते प्रदूषण की मार:सूबे में तीसरा और देश में चौथा सबसे प्रदूषित शहर मुजफ्फरपुर; ठंड बढ़ने पर खतरनाक होंगे हालात

मुजफ्फरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रविवार को देश का सबसे प्रदूषित शहर था मुजफ्फरपुर, अब एक्यूआई लेवल 373 पर पहुंचा - Dainik Bhaskar
रविवार को देश का सबसे प्रदूषित शहर था मुजफ्फरपुर, अब एक्यूआई लेवल 373 पर पहुंचा

शहर में दिनोंदिन खराब हाेती जा रही हवा सेहत के लिए जहर बन गई है। साेमवार काे लगातार दूसरे दिन प्रदूषण लेवल न केवल रेड जाेन में रहा, बल्कि देश में चौथेे स्थान पर रहा। राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद की रिपोर्ट के मुताबिक, शाम में शहर का एयर क्वालिटी इंडेक्स औसत 373 रहा। सबसे अधिक प्रदूषण बिहारशरीफ में 414, दूसरे स्थान पर हरियाणा के पानीपत में 398 और दरभंगा में 376 रहा। ऐसा नहीं है कि बाजार में भीड़-भाड़ बढ़ने एवं ट्रैफिक का दबाव बढ़ने से यह स्थिति रही। सुबह में ही एक्यूआई 360 पर पहुंच गया था। दिल्ली में 318 और पटना में प्रदूषण लेवल 305 दर्ज किया गया।

शहर में लगातार अत्यधिक खराब श्रेणी में हवा हाेने से स्वस्थ लाेग भी बीमार हाे रहे हैं। बुजुर्गों में सर्दी, खांसी से लेकर दम फूलने की समस्या काफी बढ़ गई है। प्रदूषण काे देखते हुए दिल्ली में निर्माण कार्य एवं ताेड़फाेड़ तक पर राेक लग गई है। लेकिन, यहां नियंत्रण के उपाय शून्य हैं। पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के निर्देश के बाद नगर निगम की ओर से कुछ मार्गों पर पानी का छिड़काव किया गया। लेकिन, अब वाे भी बंद है। नियंत्रण के लिए आवश्यक कदम नहीं उठाए गए, तो ठंड बढ़ने के साथ प्रदूषण स्तर में भी और वृद्धि हाने की आशंका रहेगी।

प्रदूषण कम करने काे कुछ दिनाें तक प्रमुख सड़काें पर पानी का छिड़काव हुआ, लेकिन अब वह भी बंद, नतीजा हवा हुई जानलेवा

एमआईटी इलाके में हालात सबसे अधिक खराब

राेड की सफाई हो नाले की गाद न रहे ताे मिलेगी राहत
निर्माण कार्य चलने वाली सड़काें पर पानी का छिड़काव, राेड की सफाई, निर्माण सामग्री काे ढंक कर रखने और नाले का गाद निकाल सड़काें पर न छाेड़ा जाए ताे राहत मिल सकती है। क्याेंकि, शहर में प्रदूषण में मुख्य पाॅल्युटेंट में पीएम 2.5 यानी सूक्ष्म, धूल, कण की मात्रा ही सबसे अधिक है। बचाव के लिए मास्क लगा कर ही बाहर निकलना चाहिए। अस्वस्थ और बुजुर्ग लोग सड़काें पर मॉर्निंग वाॅक करने से बचें। गर्म पानी का भाप लें।

इस दिसंबर पहली बार पारा 7 डिग्री पर पहुंचा
जिले में पांच दिनों से दिन और रात के तापमान में लगातार कमी आ रही है। साेमवार काे दिन के तापमान में 1.1 और रात में आधा डिग्री की औैर कमी आई। दिन का तापमान सामान्य से 2.1 डिग्री कम 22.8 और रात का सामान्य से 3.4 डिग्री कम 7 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। यह इस सीजन का सबसे कम तापमान है। तीन दिनों तक रात का पारा इतना ही रहेगा। दिन में एक-दाे डिग्री की कमी संभव है।

खबरें और भी हैं...