पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाढ़ की दहशत:बागमती के जलस्तर में फिर से हो रही वृद्धि बूढ़ी गंडक भी लाल निशान से 16 सेमी ऊपर

मुजफ्फरपुर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कटरा के डुमरी में ध्वस्त हुआ चचरी पुल। - Dainik Bhaskar
कटरा के डुमरी में ध्वस्त हुआ चचरी पुल।
  • शहर समेत आसपास के क्षेत्रों के लोग फोरलेन और बांध पर डाले हुए हैं डेरा

गंडक, बागमती और बूढ़ी गंडक के जलस्तर में असमान रूप से बदलाव आ रहा है। बागमती के जलस्तर में कटौझा में जहां वृद्धि हो रही है वहीं, बेनीबाद में यह स्थिर है। इसी प्रकार गंडक नदी का जलस्तर रेवा घाट में स्थिर है तो बूढ़ी गंडक के जलस्तर में शहर के सिकंदरपुर में कमी हो रही है। हालांकि, सिकंदरपुर में बूढ़ी गंडक का जलस्तर खतरे के निशान से 16 सेमी ऊपर बह रहा है।

शहर समेत आसपास के क्षेत्रों के लोग फोरलेन और बांध पर डाले हुए हैं डेरा बूढ़ी गंडक नदी का जलस्तर शहर के सिकंदरपुर में खतरे के निशान 52.53 मीटर से 16 सेमी ऊपर 52.69 मीटर पर, गंडक नदी का जलस्तर रेवा घाट में खतरे के निशान 54.41 से 63 सेमी नीचे 53.78 मीटर एवं बागमती नदी का जलस्तर कटौझा में खतरे के निशान 55.23 से 58 सेमी नीचे 54.65 एवं बेनीबाद में खतरे के निशान 48.68 से 54 सेमी ऊपर 49.22 मीटर पर है। इधर, नेपाल में बागमती, गंडक और बूढ़ी गंडक के जल ग्रहण क्षेत्र में 24 घंटे में अच्छी बारिश हुई है। बूढ़ी गंडक के जल ग्रहण क्षेत्र सेमरा में सर्वाधिक 113 मिलीमीटर बारिश होने से 24 घंटे के बाद इसके जलस्तर में फिर से वृद्धि होने का अनुमान है।

खबरें और भी हैं...