केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) का 22 दिनों तक आयोजन:पहली से 8वीं तक के लिए पहली बार ऑनलाइन सीटीईटी, 6 केंद्रों पर शामिल होंगे 35998 स्टूडेंट्स

मुजफ्फरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दो शिफ्टों में 16 दिसंबर से 13 जनवरी तक अलग-अलग तिथियों में होगी परीक्षा - Dainik Bhaskar
दो शिफ्टों में 16 दिसंबर से 13 जनवरी तक अलग-अलग तिथियों में होगी परीक्षा

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) का आयोजन पहली बार सीबीटी मोड यानी कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट में होगी। ऑनलाइन होने वाली इस परीक्षा के लिए शहर में 6 केंद्र बनाए गए हैं। यहां 35998 स्टूडेंट्स अलग - अलग तिथियों में परीक्षा देंगे। अधिकांश दिनों में दो शिफ्टों में परीक्षा होगी। 22 दिनों तक चलने वाली परीक्षा कभी-कभी एक शिफ्ट में भी होगी। बोर्ड ने 16 दिसंबर से 13 जनवरी तक का समय तय किया है।

पहली शिफ्ट सुबह 9:30-12 बजे और दूसरी शिफ्ट 2:30 से 5 बजे तक होगी। परीक्षा 20 भाषाओं में होगी। स्टूडेंट्स अपने स्मार्ट फोन या पीसी से भी इसमें शामिल हो सकते थे। सिटी कॉर्डिनेटर डॉ भारती नायक ने बताया कि परीक्षा दो शिफ्ट में होगी।

पिछले वर्षों से आते हैं 40-50 फीसदी सवाल, इसलिए इसका अभ्यास जरूरी
सीटीईटी में पिछले वर्षों से 40-50% सवाल पूछे जाते हैं। अभ्यर्थियों का इनका पूरा अभ्यास करना चाहिए। दृष्टि के निदेशक राजीव रंजन के अनुसार पहली बार ऑनलाइन परीक्षा होगी। ऐसे में रोज दो मॉक टेस्ट दें। समय प्रबंधन व अन्य चीजों पर विश्लेषण करें। 1 - 5 के लिए नेशनल करिकुलम फ्रेमवर्क और नई शिक्षा नीति को देख लें। ईवीएस में वाटर, फूड एंड शेल्टर, चाइल्ड डेवलपमेंट में कांसेप्ट ऑफ डेवलपमेंट और गणित में बोडमास और नंबर सिस्टम को जरूर पढ़ें।

दो पेपर की होनी है परीक्षा
सीटीईटी में पहली से 5वीं तक के शिक्षक अभ्यर्थी पेपर वन की परीक्षा देंगे। छठी से 8वीं तक के पेपर टू की परीक्षा देंगे। अगर कोई चाहे तो दोनों पेपर्स की परीक्षा दे सकता है। पेपर वन और टू में कुल 150 अंकों के 150 बहुवैकल्पिक प्रश्न होंगे। पैटर्न एनसीईआरटी सिलेबस पर होगा।

जिले में ये 6 केंद्र बनाए गए
ऑयन डिजिटल सुभाष चंद्र बोस स्कूल भगवानपुर, ऑयन डिजिटल जोन कांटभ फ्लाइओवर, ऑयन डिजिटल जोन कच्ची - पक्की, इंटीग्रेटेड डिजिटल एकेडमी अनंत कमतौल बलिया फ्लाइओवर , आजाद इंफोटेक फकीरा चौक पताही,सत्येंद्र किशन कॉलेज ऑफ एजुकेशन मनियारी सिलौत।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...