पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

राहत:शहर में जलजमाव और बिजली संकट का दंश झेल रहे लोगों को मिला थोड़ा सुकून

मुजफ्फरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अमर सिनेमा चौक पर नाले से अतिक्रमण हटाते नगर निगम के कर्मी।
  • कमरा मोहल्ले में पानी निकालने के लिए लगाया गया 80 एचपी का मोटर

पानी निकासी में बाधा बने हाथी चौक पर नाला पर हुए अतिक्रमण को निगम टीम ने जेसीबी से तोड़ा

शहर को जलजमाव से मुक्ति दिलाने के लिए नगर निगम का अभियान तीसरे दिन भी जारी रहा। शुक्रवार को हाथी चौक पर नाला पर हुए अतिक्रमण को जेसीबी से तोड़ कर हटाया गया। कमरा मोहल्ले में पानी निकालने के लिए पटना से 80 एचपी का मोटर मंगा कर लगाया गया है। सिकंदरपुर में भी पानी निकासी के लिए मोटर लगाया गया है। बीबीगंज, आनंदपुरी, गोविंदपुरी, चित्रकूट नगर, नंदपुरी कॉलोनी से नाला से अतिक्रमण हटने के बाद पानी निकलने लगा है।

इधर, वार्ड पार्षद रविशंकर शर्मा का कहना है कि मिठनपुरा इलाके में हाजी कॉलोनी, शिव शंकर पथ, वीसी लेन, दास कॉलोनी, बैंक कॉलोनी, इंद्रपुरी इलाके में पंप लगा कर पानी निकालने की जरूरत है। वहीं, वार्ड पार्षद रंजू सिन्हा का कहना है कि गन्नीपुर स्थित धुनिया टोला पिछले 15 दिनों से डूबा हुआ है। नगर आयुक्त मनेष कुमार का कहना है कि जहां पर नाला नहीं है, वहां पानी निकासी के लिए मोटर लगाया गया है।

सांसद-विधायक ने राहत और बचाव में तेजी का दिया सुझाव

मुजफ्फरपुर | काेराेना के बढ़ते संक्रमण व बाढ़ की समस्या काे लेकर शुक्रवार काे डीएम के साथ जनप्रतिनिधियाें की वर्चुअल मीटिंग हुई। इसमें सांसद व विधायक ने बाढ़ प्रभावित सकरा, मुराैल प्रखंड में राहत व बचाव कार्य में तेजी लाने का सुझाव दिया। विधायक ने कहा, फिलहाल पाॅलिथीन शीट्स के अभाव में बाढ़ पीड़िताें काे अधिक परेशानी हाे रही है। नावों के परिचालन, जीआर का वितरण, सामुदायिक रसोईंघर, पॉलिथीन की उपलब्धता, जलजमाव के कारण क्षतिग्रस्त सड़काें की तत्काल मरम्मत कराने व बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित कराने काे कहा। डीएम ने जनप्रतिनिधियाें काे अाश्वस्त किया कि राहत व बचाव कार्य युद्धस्तर पर जारी है। कोरोना को लेकर जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग, एसकेएमसीएच द्वारा किए जा रहे कार्यों की भी जानकारी दी।

शहर में बिजली की स्थिति में सुधार, लेकिन बाढ़ग्रस्त इलाकों में पोल क्षतिग्रस्त होने से बढ़ी है परेशानी

एसकेएमसीएच ग्रिड में बाढ़ का पानी घुसने के बाद नाव से पहुंचे अधीक्षण अभियंता।
एसकेएमसीएच ग्रिड में बाढ़ का पानी घुसने के बाद नाव से पहुंचे अधीक्षण अभियंता।

कांटी थर्मल प्लांट में उत्पादन चालू हो जाने के बाद शहरी इलाके को बिजली से राहत मिली है। लेकिन, बाढ़ग्रस्त इलाकों में कई जगह बिजली पोल क्षतिग्रस्त हो जाने से बिजली आपूर्ति में परेशानी बनी हुई है। शुक्रवार को नाव से बिजलीकर्मियों की टीम ने पहुंच कर बिजली आपूर्ति बहाल की। पारू इलाके में पिछले 4 दिनों से बिजली की जबरदस्त किल्लत बनी हुई है। एनबीपीडीसीएल के आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, शहर में बिजली की कोई किल्लत नहीं है। लोकल फॉल्ट की वजह से कुछ जगहों पर परेशानी हो सकती है। उधर, गुरुवार की शाम आई आंधी-पानी में यजुआर, बघनगरी, सुजावलपुर, सकरा हाई स्कूल के पास बिजली के पोल क्षतिग्रस्त हो गए। शुक्रवार को विशेष गैंग ने बिजली आपूर्ति को सामान्य किया। मीनापुर में कुछ इलाके में अभी भी परेशानी बनी हुई है।

एसकेएमसीएच ग्रिड में घुसा पानी नाव से पहुंचे ट्रांसमिशन ऑफिसर

मुजफ्फरपुर | बाढ़ का पानी एसकेएमसीएच ग्रिड में घुस गया है। शुक्रवार को ट्रांसमिशन के अधिकारियों को नाव से एसकेएमसीएच ग्रिड पहुंचना पड़ा। ट्रांसमिशन अधिकारी का कहना है कि कैंपस में 10 से 12 फीट पानी फैल गया है। हालांकि ग्रिड, कंट्रोल रूम और क्वार्टर सुरक्षित हैं। एसकेएमसीएच ब्रिज कैंपस में रह रहे बिजली कर्मी व इंजीनियर नाव से ही आ-जा रहे हैं। ग्रिड की स्थिति का निरीक्षण करने शुक्रवार को ट्रांसमिशन सर्किल के अधीक्षण अभियंता नीरज कुमार सिंह व कार्यपालक अभियंता जयनारायण पहुंचे। दोनों अधिकारियों ने यार्ड का निरीक्षण किया । एसकेएमसीएच ग्रिड से एसकेएमसीएच पावर सब स्टेशन, एमआईटी, सिकंदरपुर, कटरा, सीआरपीएफ, बनघारा एवं बोचहां पावर सबस्टेशन जुड़ा हुआ है। एसकेएमसीएच ग्रिड में बिजली आपूर्ति एनटीपीसी कांटी से होती है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें