सदर पुलिस ने तीन युवकों का स्मैक तस्करी करते दबोचा:एक शातिर की AK-47 समेत अन्य बड़े हथियारों के साथ तस्वीर हुई थी सोशल मीडिया पर जारी

मुजफ्फरपुरएक महीने पहले

मुजफ्फरपुर की सदर पुलिस ने तीन युवकों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि इनमे से एक युवक का तस्वीर AK-47 समेत बड़े हथियारों के साथ वायरल हुई थी। तीनो शातिरों को पुलिस ने विशेष कोर्ट में पेश किया। जहां से तीनों को कोर्ट ने सुनवाई के बाद न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। बताया गया कि तीनो की गिरफ्तारी रामदयालु नगर स्थित रेलवे गुमटी के पास से हुई है। इनके पास से 15 पुड़िया स्मैक भी बरामद की गई है।

मामले में सदर थानेदार सत्येंद्र कुमार मिश्रा ने बताया कि 15 पुड़िया के साथ तीन युवकों को पकड़ा गया है। तीनों को कोर्ट में पेश किया गया। आरोपितों में रामदयालू नगर भिखनपुरा निवासी राजेश महतो, अरविंद महतो व पताही के मनीष कुमार उर्फ गौरव कुमार शामिल है। इनके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट में एफआईआर दर्ज की गई है। बताया गया कि राजेश व अरविंद दोनों अपने सगे भाई भी है।

मुजफ्फरपुर में गुरुवार को दो फीडरों से 4 से 7 घंटे बिजली आपूर्ति ठप रहेगी। बताया जा रहा है कि 11 कवि बीबीगंज फीडर से करीब साढ़े 7 घंटे व निम चौक फीडर से 4 घंटे बिजली प्रभावित रहेगी। इससे जुड़े करीब 10 मोहल्ले में बिजली संकट रहेगी। इसको लेकर नार्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड की ओर से जानकारी दी गई है। इसमें बताया गया है कि सड़क के चौड़ीकरण और लाइन शिफ्टिंग समेत अन्य कार्य को लेकर बिजली सेवा ठप रहेगी।

पुलिस के अनुसार तीनो रामदयालु नगर गुमटी के समीप एक चिकन दुकान के पास स्मैक बेच रहे थे। बताया गया कि तीनों दुकान के पास खड़े थे। पुलिस टीम ने जब उनकी रेकी की तो पाया कि तीनो से कुछ लोग आकर मिल रहे थे। कुछ दे रहे थे। इसके बाद चले जा रहे थे। इसके बाद पुलिस भी उनकी ओर बढ़ने लगी। इसपर तीनो भागने लगे। इसके बाद तीनों भागने लगे। तलाशी के दौरान अरविंद के पास से चार, राजेश के पास से पांच और मनीष के पास से छह पुड़िया स्मैक बरामद किया गया। पूछताछ में तीनों ने बताया कि मिठनपुरा इलाके से वे लोग स्मैक खरीदते है। फिर उसे मार्किट में घूम-घूमकर बेच देते है।

मनीष का हुआ था तस्वीर वायरल :

पुलिस सूत्रों की माने तो पताही से गिरफ्तार मनीष कुमार की तस्वीर कुछ माह पूर्व बड़े हथियारों के साथ हुई थी। पुलिस टीम ने उक्त बिंदु पर भी मनीष से पूछताछ की। लेकिन, उसके निशानदेही पर जहां छापेमारी की गई। वहां से पुलिस को विशेष सुराग या साक्ष्य बरामद नहीं हो सका। मनीष पूर्व में भी जेल जा चुका है।

खबरें और भी हैं...