पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

गुस्सा:शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र तक बिजली संकट; बाढ़ प्रभावित गायघाट, बंदरा, साहेबगंज व मोतीपुर इलाके में स्थिति गंभीर

मुजफ्फरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लगातार ट्रिपिंग के कारण शहरी इलाकों में लगी रही बिजली की आवाजाही, कर्मियों की टीम जगह-जगह मरम्मत करने में जुटी रही

गुरुवार की सुबह एमआईटी व सिकंदरपुर फीडर घंटों ब्रेकडाउन में फंसा रहा। बाढ़ग्रस्त गायघाट, बंदरा, साहेबगंज, मोतीपुर इलाके में भी बिजली की स्थिति गंभीर बनी हुई है। एनबीपीडीसीएल अधिकारी का कहना है कि रात 2 बजे सिकंदरपुर और एमआईटी फीडर ब्रेकडाउन में फंस गया। जिसकी वजह से शहर के उत्तरी व पश्चिमी इलाके में बिजली आपूर्ति ठप पड़ गई। काफी मशक्कत के बाद गुरुवार की सुबह 8 बजे दोनों पावर सब स्टेशन की बिजली चालू की गई। इस दौरान लोगों को बिजली-पानी की किल्लत झेलनी पड़ी। गायघाट में गुरुवार की दोपहर एनडीआरएफ की मदद से बिजलीकर्मियों की टीम जगह-जगह जाकर बिजली आपूर्ति सामान्य करने में जुटी रही। साहेबगंज, पारू, मोतीपुर के बाढ़ग्रस्त इलाके में पिछले कई दिनों से बिजली आपूर्ति बाधित है।

मीनापुर में भी लोगों को बिजली संकट का सामना करना पड़ रहा है। शहर से जुड़े बाढ़ग्रस्त इलाकों में भी बिजली की स्थिति गंभीर बनी हुई है। लगातार ट्रिपिंग के कारण गुरुवार को शहर के कई इलाकों में बिजली की आवाजाही लगी रही। पिछले 3 दिनों से गंभीर बिजली संकट झेल रहे लोगों के लिए राहत की खबर है। तीन दिनों से ठप पड़े कांटी थर्मल प्लांट की तीन यूनिटों से गुरुवार को बिजली उत्पादन शुरू हो गया। शुक्रवार से बिजली आपूर्ति पूरी तरह से सामान्य हो जाने की उम्मीद है।

राहत की बात : ठप पड़े कांटी थर्मल की तीनों यूनिट चालू, आज से आपूर्ति सामान्य होने की उम्मीद

46 घंटे से बिजली संकट झेल रहे लोगों का सब्र टूटा मैठी चौक के समीप दो घंटे हाईवे जाम कर हंगामा

पिछले 46 घंटे से बिजली आपूर्ति ठप देखकर गुरुवार को उपभोक्ताओं के सब्र का बांध टूट पड़ा और मैठी चौक के समीप करीब 2 घंटे एनएच 57 जाम कर दिया। सूचना पर पहुंची गायघाट व बोचहां पुलिस ने लोगों को समझाने का काफी प्रयास किया, लेकिन लोग अपनी जिद पर अड़े थे। लोगों का कहना था कि जब तक बिजली आपूर्ति बहाल नहीं होगी, तब तक हम लोग सड़क पर ही बैठे रहेंगे। बाद में बोचहां थानाध्यक्ष राजेश रंजन ने बिजली विभाग के अधिकारियों से बातचीत कर लोगों को आश्वासन दिया कि शाम 6 बजे तक हर हाल में बिजली आपूर्ति बहाल किया जाए।

यदि शाम तक बिजली नहीं आई तो आप लोग अपना आंदोलन तेज कर सकते हैं। थानाध्यक्ष ने बताया कि उपभोक्ताओं की मांग जायज थी। पिछले 46 घंटों से मैठी पावर ग्रिड से जुड़े उपभोक्ताओं को बिजली नहीं मिल रही थी। इधर, उपभोक्ताओं का कहना था कि बिजली नहीं रहने के कारण इस भीषण गर्मी में व्यवसाय एवं उद्योग बुरी तरह से प्रभावित रही। बिजली विभाग के अधिकारी इस दौरान अपना मोबाइल ऑफ रखे तो कर्मचारी ग्रिड से गायब रहे। इतना ही नहीं इस ग्रिड में आए दिन बिजली हमेशा गुल रहती है।

सकरा में भी लचर व्यवस्था से उपभोक्ताओं में उबाल

मारकन फीडर एवं सुजावलपुर फीडर के उपभोक्ताओं में बिजली की लचर व्यवस्था के कारण भारी आक्रोश है। पूछने पर बिजली अधिकारियों द्वारा एक ही जवाब दिया जाता है, 33 केवी तार पर पेड़ की डाली गिरी है, इसलिए बिजली आपूर्ति बाधित है। पिछले 36 घंटे से फीडर से जुड़े इलाकों में बिजली गुल है। मारकन निवासी शंभू शरण मिश्र के नेतृत्व में पावर ग्रिड को आवेदन देकर सुधार का अल्टीमेटम दिया गया है।

फॉल्ट की शिकायत पर रिस्पांस दें अधिकारी निर्बाध रूप से आपू्र्ति करें सुनिश्चित : डीएम

डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने गुरुवार की शाम बिजली आपूर्ति को लेकर मिल रही शिकायतों पर समीक्षा बैठक की। उन्होंने बिजली आपूर्ति में उत्पन्न बाधा को हर हाल में दूर करते हुए निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। डीएम ने कहा कि किसी भी तरह का फॉल्ट होने पर तुरंत रिस्पांस करते हुए फाल्ट को दूर करना सुनिश्चित करेंगे। शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में पीएसएस वाइज और सेक्शन वाइज किसी भी तरह के फाल्ट को दूर करने के लिए जितनी टीमें कार्य कर रही हैं, उनकी पूरी सूची उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। बैठक में बिजली विभाग के अभियंताओं व एनटीपीसी कांटी के अधिकारियों के साथ डीपीआरओ कमल सिंह भी उपस्थित थे।

कार्यपालक अभियंता ने बताया कि एसकेएमसीएच ग्रिड से सात विद्युत उपकेंद्र एसकेएमसीएच विद्युत उप केंद्र, एमआईटी, सिकंदरपुर, कटरा, सीआरपीएफ, बनघारा एवं बोचहां जुड़ा हुआ है। एसकेएमसीएच ग्रिड में बिजली आपूर्ति एनटीपीसी कांटी से होती है। कांटी थर्मल के अधिकारियों द्वारा बताया गया कि कांटी थर्मल से बिजली सप्लाई में कोई बाधा नहीं है। वहीं, एसकेएमसीएच ग्रिड एवं उससे संबंधित विद्युत उपकेंद्र को लेकर जो समस्याएं थीं उसका समाधान कर लिया गया है। बैठक में बिजली विभाग के अभियंताओं द्वारा बताया गया कि मुशहरी ग्रिड से चंदवारा, मिस्कॉट, बेला मारकन, ढोली, बंदरा और गायघाट विद्युत उपकेंद्र जुड़ा हुआ है। मुशहरी ग्रिड में बिजली आपूर्ति दरभंगा पावर ग्रिड से होती रही है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें