मुजफ्फरपुर में 6 साल की मासूम से हैवानियत:खेल रही बच्ची को फुसलाकर ले गया दलान, रेप के दौरान ब्लीडिंग हुई तो भागा नाबालिग

मुजफ्फरपुरएक महीने पहले

मुजफ्फरपुर में 6 साल की मासूम से रेप हुआ है। पड़ोस के ही रहने वाले एक लड़के ने बच्ची के साथ दरिंदगी की। बताया जाता है कि बच्ची को आरोपी बहला कर घर के दलान में ले गया, जहां उसने दुष्कर्म किया। इस दौरान बच्ची चिल्लाने लगी तो उसका मुंह दबा दिया। उसके कपड़े तक फाड़ डाले। इतना ही नहीं, बच्ची जब किसी तरह घर लौटी तो उसके प्राइवेट पार्ट से खून निकल रहा था। ये देख घरवाले दंग रह गए। फिलहाल आरोपी फरार है।

पोल में हिस्सा लेकर खबर पर अपनी राय दे सकते हैं।

मामला सकरा थाना क्षेत्र का है। जहां परिजनों का आरोप है कि 6 साल की बच्ची से पड़ोसी के रहनेवाले 12 साल के एक किशोर ने रेप किया। शनिवार की शाम मामले में महिला थाना में FIR दर्ज कराई गई है। बच्ची की मेडिकल जांच कराई गई है। पुलिस आगे की कार्रवाई करने में जुटी हुई है। गांव में तनाव का माहौल है। सकरा थानेदार सरोज कुमार ने कहा कि महिला थाना में FIR दर्ज हुई है। आरोपी भी नाबालिग है। उसी अनुसार आगे की कार्रवाई चल रही है।

प्राइवेट पार्ट से निकल रहा था खून

पीड़िता की मां ने बताया कि बच्ची अपने दरवाजे पर खेल रही थी। गर्मी के कारण परिजन घर में थे। इसी बीच आरोपी बच्ची को बहला फुसलाकर बगल के दलान में ले गया। वहां पर ले जाकर उसके साथ जोर जबरदस्ती करने लगा। बच्ची ने इसका विरोध किया तो उसका मुंह अपने हाथ से दबा दिया। उसे धमकी भी दी। बच्ची काफी सहम गई थी। आरोपी ने उसके साथ रेप किया। उसके कपड़े तक फाड़ डाले। घटना को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गया।

बच्ची ही हालत खराब हो गई थी। उसके प्राइवेट पार्ट से खून निकल रहा था। वह उसी हालत में घर पहुंची। परिजन उसे देखकर हैरान रह गए। वह काफी डरी हुई थी। सिर्फ रोए जा रही थी। परिजन ने पहले उसका हौसला बढ़ाया। फिर उससे घटना के बारे में पूछा। बच्ची ने पूरी बात बताई की किस तरह आरोपी ने उसके साथ रेप किया है।

शिकायत करने गए तो कर दी पिटाई

परिजन घटना के बारे में सुनकर आग बबूला हो गए। उसकी मां समेत अन्य लोग आरोपी के घर पर इसकी शिकायत करने गए। आरोपी के परिजन ने उनलोगों को ही गाली देना शुरू कर दिया। इससे विवाद बढ़ गया। पीड़िता के परिजन ने इसका विरोध किया तो उनके साथ मारपीट भी की गई। आसपास के लोगों के बीच बचाव के बाद मामला शांत हुआ। इसके बाद वे लोग बच्ची को लेकर थाना गए। वहां से थानेदार ने फौरन उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया। बच्ची की हालत में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है।