मुजफ्फरपुर में पुलिस ने बरसाई लाठियां, VIDEO:लापता 4 साल की बेटी का शव मिलने पर प्रदर्शन, लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर मारा

मुजफ्फरपुर24 दिन पहले

मुजफ्फरपुर में 4 साल की बच्ची के शव को लेकर प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने जमकर लाठियां बरसाईं। पुलिसकर्मियों ने लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। लाठीचार्ज का वीडियो सामने आया है। पुलिस प्रदर्शनकारियों को ढूंढ-ढूंढ कर मारती दिख रही है। पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को सड़क पर घसीटा।

दरअसल, 4 साल की बच्ची राधिका के शव मिलने के दूसरे दिन रविवार को आक्रोशित ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान लोगों ने अघोरिया बाजार चौक को पूरी तरह जाम कर आगजनी शुरू कर दी। प्रदर्शन के दौरान उत्पात मचाया गया, कई बाइक सवारों के साथ हाथापाई भी की गई। लोग हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।

प्रदर्शन के दौरान बवाल

इधर हंगामा की सूचना पर काजी मोहम्मदपुर और सदर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने पहले आक्रोशित लोगों को समझाने की कोशिश की। लेकिन जब वे नहीं माने तो पुलिस ने बल प्रयोग किया। इसके बाद पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगों पर जमकर लाठियां बरसाईं। लाठीचार्ज कर प्रदर्शन कर रहे लोगों को हटाया और सड़क से जाम हटवाया गया।

पुलिस ने महिला समेत आधा दर्जन लोगों को हिरासत में भी लिया है। मामले में बच्ची के परिजनों ने पुलिस पर 2 लाख रुपए लेकर मामले को रफा-दफा करने का आरोप लगाया है। इसको लेकर वे लोग आरोपियों को गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। इस दौरान हंगामा करने लगे।

पुलिस ने लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।
पुलिस ने लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।

शनिवार को बच्ची का मिला शव

बता दें कि सादपुरा नुनफर टोला से गायब चार साल की बच्ची राधिका कुमारी का शव शनिवार को जकरिया कॉलोनी से बरामद किया था। बच्ची का शव थाना क्षेत्र के जकरिया कॉलोनी से मिला था। शव को पोस्टमार्टम के लिए SKMCH भेजा गया था। परिजनों का कहना है कि उनकी बच्ची की हत्या कर दी गई थी। पुलिस हत्यारे को जल्द से जल्द गिरफ्तार करें। मामले में पुलिस ने एक महिला समेत तीन लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था।

3 नंवबर को लापता हुई थी

काजी मोहम्मदपुर थाना क्षेत्र के सादपुरा नुनफर टोला से बीते 3 नंवबर से राधिका लापता थी। राधिका की मां ने बताया था की वह सिलीगुड़ी में रहती है। छठ पर्व के दौरान अपने भाई के घर आई थी। दो दिन बाद सिलीगुड़ी वापस जाने वाली थी। इसी दौरान राधिका बाहर दुकान से कुछ सामान खरीदने गई थी। लेकिन, काफी देर होने के बावजूद वह घर नहीं लौटी। वे लोग चिंतित हो गए। बाहर निकलकर खोजबीन शुरू की। मगर राधिका के बारे में पता नहीं लगा। परिजन ने मामले की शिकायत थाने में दर्ज कराई थी।

पुलिस छानबीन कर ही रही थी की शनिवार को राधिका का शव जकरिया कॉलोनी स्थित पानी मे मिला। इसके बाद लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया था। मौके से पुलिस ने एक महिला को हिरासत मे लिया था। वही, गिरफ्तारी की मांग को लेकर रविवार को अक्रोशित लोगों ने सड़क जमकर हंगामा शुरू कर दिया।

पुलिस पर पत्थर बरसाए गए। इस पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर जाम मुक्त कराया। वहीं, आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया गया है। मामले मे एसएसपी जयंत कांत का कहना है की घटना की जांच कराई जा रही है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट मिलने के बाद मौत का कारण स्पष्ट हो पाएगा।