पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पहल:जिले के 521 गांवों में कालाजार के खात्मे के लिए छिड़काव शुरू, खोजी अभियान में मिले दो मरीज

मुजफ्फरपुर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में 120 कालाजार के मरीजों का हो रहा है इलाज, 60 दिनों तक दवा छिड़काव के लिए काम कर रही 110 टीम

कालाजार बीमारी से बचाव के लिए जिले के सभी प्रखंडों में सिंथेटिक पाइरोथाइराइड के छिड़काव की शुरुआत हो गई है। शुरुआत कुढ़नी प्रखंड से की गई है। जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ. सतीश कुमार ने बताया कि कालाजार से बचाव के लिए एसपी पाउडर का छिड़काव जिले में 60 दिनों तक किया जाएगा। 521 गांवों में छिड़काव कार्य होना है। इसके लिए 110 टीमों को लगाया गया है। प्रत्येक टीम में छह सदस्य हैं। जिसमें एसडब्ल्यूएफ सभी कार्यों के पर्यवेक्षण समेत छिड़काव किए गए घरों में जरूरी सुझाव भी देते हैं।

जिले में कलाजार के 120 मरीज

वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी पुरुषोत्तम कुमार ने कहा कि अभी जिले में कुल कालाजार मरीजों की संख्या 120 है। वहीं वीएल मरीजों की संख्या 9 है। अभी कालाजार मुक्त होने का नियम यह है कि प्रत्येक 1000 की आबादी पर एक या उससे भी कम मरीज हों। जिले में पारू सबसे ज्यादा कालाजार से आक्रांत है। जिले के सभी प्रखंडों में पीएचसी पर कालाजार के उपचार की सुविधा मौजूद है। एक सूई से कालाजार का ईलाज किया जाता है।

छिड़काव के वक्त ध्यान में रखने वाली बातें

घर की दीवारों में पड़ी दरारों को भर दें व अच्छी तरह से घर की सफाई करें। खाने-पीने का सामान, बर्तन, दीवारों पर टंगे कैलेंडर आदि को बाहर निकाल दें। भारी सामानों को कमरे के मध्य भाग में एकत्रित कर दें और उसे ढंक दें। रसोईघर, गौशाला सहित पूरे घर में छह फीट की ऊंचाई तक दवा का छिड़काव कराएं।

कालाजार के लक्षण

रुक-रुक कर बुखार आना, भूख कम लगना, शरीर में पीलापन और वजन घटना, तिल्ली और लिवर का आकार बढ़ना, त्वचा-सूखी, पतली और होना और बाल झड़ना कालाजार के मुख्य लक्षण हैं। इससे पीड़ित होने पर शरीर में तेजी से खून की कमी होने लगती है।

पीएचसी पर कालाजार के उपचार की सुविधा उपलब्ध

कालाजार रोगियों की खोज के लिए 25 अगस्त से 2 सितंबर तक कालाजार रोगी खोज अभियान भी चलाया गया। जिसमें 20 संदिग्धों में से 2 लोग कालाजार रोगी पाए गए।

एक दिनों में 60 घरों में छिड़काव का लक्ष्य : वेक्टर रोग नियंत्रण पदाधिकारी पुरुषोत्तम कुमार ने कहा कि एक दिन में छिड़काव के लिए 60 घरों में एसपी पाउडर के छिड़काव का लक्ष्य रखा गया है। अगर किसी घर में बीमार या नवजात हो

तो उस घर में छिड़काव नहीं किया जाता है। छिड़काव में लगे कर्मियों को 14 तथा 15 सितंबर को प्रशिक्षण भी दिया गया है।

छिड़कावकर्मियों को मिलेगी पीपीई किट : डॉ. सतीश ने कहा कि कोरोना के मद्देनजर छिड़काव कर्मियों को गुरुवार तक पीपीई किट उपलब्ध करा दिया जाएगा। पहले ही विभाग की तरफ से उन्हें मास्क तथा ग्ल्ब्स उपलब्ध करा दिया गया है। छिड़काव में लगे सभी दलों को पहले से ही सोशल डिस्टेंसिंग के पालन का निर्देश दे दिया गया है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें