पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एमएड:छात्रों का विवि में प्रदर्शन, कहा-3 साल में फाइनल नहीं हुआ तो रद्द हो जाएगा रजिस्ट्रेशन

मुजफ्फरपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना के कारण परीक्षा लंबित होने से अब एमएड छात्रों का रजिस्ट्रेशन रद्द होने का खतरा मंडराने लगा है। इससे चिंतित छात्र-छात्राओं ने मंगलवार को बिहार विवि में प्रदर्शन किया और शीघ्र ऑनलाइन परीक्षा लेने या प्रमोट करने की मांग की। छात्र परीक्षा नियंत्रक से भी मिले। उन्हें अपनी समस्या से अवगत कराया। छात्रों ने कहा कि एमएड का कोर्स 2 साल का है, जिसे हर हाल में 3 साल में पूरा होना चाहिए, लेकिन 2 साल बाद भी सिर्फ 1 सेमेस्टर की परीक्षा हो सकी है। छात्रों के अनुसार, एनसीटीई के नियम के अनुसार, यदि 3 साल में सभी 4 सेमेस्टर क्लियर नहीं हुए तो रजिस्ट्रेशन रद्द हो जाएगा।

2 साल तो एक सेमेस्टर में निकल गए। अब भी आगे की परीक्षा के बारे में कोई प्लान नहीं दिख रहा। लाखों रुपए लगाकर कोर्स में दाखिला लिया था, लेकिन सभी का भविष्य फंस गया है। छात्रों ने परीक्षा नियंत्रक से प्रमोट करने या फिर ऑनलाइन परीक्षा लेने का सुझाव दिया। उन्हाेंने कहा कि दूसरे राज्य में इंटरनल के आधार पर प्रमोट किया गया है। हालांकि, परीक्षा नियंत्रक डॉ. संजय कुमार ने किसी तरह का आश्वासन देने में असमर्थता जताई। कहा, छात्रों की मांग जायज है, लेकिन जब तक सरकार से परीक्षा लेने की अनुमति नहीं मिलती है, तब तक काेई कदम नहीं उठा सकते। प्रदर्शन में सुभाष ठाकुर, मुरारी, अजीत, प्रतिभा कुमारी, उज्ज्वल, राजेश राेशन, आशुतोष कुमार आदि थे।

खबरें और भी हैं...