पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बचाव पक्ष के वकील ने कहा:सस्पेंड डीटीओ रजनीशलाल की सास के नाम वाला लाॅकर खोलने की निगरानी ने मांगी अनुमति

मुजफ्फरपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • डीएसपी थे डीटीओ के ससुर, इसलिए सास की संपत्ति इसमें न जाेड़ें; स्पेशल पीपी बोले-जिस लाॅकर काे खाेलने की अनुमति मांगी जा रही उसमें डीटीओ की पत्नी है नाॅमिनी

मुजफ्फरपुर के तत्कालीन डीटीओ रजनीश लाल पर आय से अधिक संपत्ति के मामले में कार्रवाई कर रहे निगरानी अधिकारी ने काेर्ट से उनकी सास सरस्वती देवी के नाम का लाॅकर खाेलने का आदेश मांगा है। सरस्वती देवी व उनके पति के संयुक्त नाम से पटना में बैंक आफ बड़ाैदा में एक लाॅकर है। इस लाॅकर को खाेलने की अनुमति के लिए निगरानी ब्यूराे की अर्जी पर मंगलवार काे उत्तर विशेष निगरानी न्यायालय में मामले की सुनवाई की गई। विशेष लाेक अभियाेजक अरुण कुमार चाैधरी और बचाव पक्ष के वकील प्रियरंजन अन्नू की दलील सुनने के बाद इस अर्जी काे आदेश पर रख लिया गया है।

कोर्ट से एसपीपी ने कहा- साक्ष्य के लिए इस लॉकर की जांच जरूरी

बचाव पक्ष के वकील प्रियरंजन अन्नू ने काेर्ट में कहा कि निगरानी ब्यूराे बेवजह रजनीशलाल की पैतृक व ससुराल की संपत्ति जब्त करने की काेशिश कर रही है। उनके ससुर डीएसपी थे। उनकी पत्नी के नाम पर निश्चित ही संपत्ति हाेगी। ऐसे में सास की संपत्ति काे रजनीश लाल की संपत्ति से कैसे अटैच किया जा सकता है। उन्होंने निगरानी की अर्जी रद्द करने की मांग की।

यह भी बताया कि रजनीश लाल के पिता एडीएम पद से रिटायर हुए थे। उनकी मां काे पेंशन मिल रही है। निगरानी ने मां की संपत्ति काे भी रजनीशलाल की कमाई बता आय से अधिक के हिसाब में जाेड़ दिया है। एसपीपी अरुण चाैधरी ने काेर्ट काे बताया कि सरस्वती देवी आराेपित डीटीओ रजनीश लाल की सास हैं। जिस लाॅकर काे खाेलने की अनुमति मांगी जा रही उसमें नाॅमिनी रजनीशलाल की पत्नी राखी लाल है। इस तरह इसमें रजनीश लाल की काली कमाई की अकूत संपत्ति हाे सकती है। मुकदमे के साक्ष्य के लिए इस लाॅकर की जांच जरूरी है।

1.24 कराेड़ की संपत्ति अवैध हो चुकी घेषित

न्यायालय से जारी सर्च वारंट पर 23 और 24 जून को निगरानी ब्यूराे की टीम ने मुजफ्फरपुर के तत्कालीन जिला परिवहन अधिकारी रजनीश लाल के पटना के दो व मुजफ्फरपुर के एक आवास पर छापेमारी की थी। जांच के बाद निगरानी ब्यूराे ने डीटीओ की 1.24 कराेड़ रुपए की संपत्ति अवैध घाेषित किया था। बताया था कि डीटीओ ने अवैध कमाई से पटना में चार फ्लैट व 60 लाख रुपए की जमीन के प्लॉट खरीदे। फ्लैट मां व बेटियों के नाम से खरीद की है। गोपालगंज के विजयनगर निवासी डीटीओ रजनीश लाल 1999 से सरकारी सेवा में हैं।

खबरें और भी हैं...