मदर्स डे पर मुजफ्फरपुर से तेजप्रताप ने भरी हुंकार:महिलाओं का पैर छूकर लिया आशीर्वाद, मां के मंदिर गए, मंच पर फोटोग्राफी की

मुजफ्फरपुर3 महीने पहले
सभा में फोटोग्राफी करते तेज प्रताप यादव।

लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव आज मदर्स डे के अवसर पर मुजफ्फरपुर पहुंचे हैं। यहां सरैया थाना के रघवा बसंतपुर पट्टी गांव में मंच पर बैठकर महिलाओं को संबोधित कर रहे हैं। इससे पहले उन्होंने महिलाओं का पैर छूकर आशीर्वाद लिया। महिलाओं ने भी सिर पर हाथ रखकर उन्हें आशीर्वाद दिया। इसके बाद उन्होंने मां के दरबार मे मत्था टेका। तेज प्रताप की सभा में काफी संख्या में कार्यकर्ताओं और महिलाओं की भी भीड़ उमड़ी हुई है। यहां तेजप्रताप मंच पर फोटोग्राफी भी करने लगे। एक कैमरामैन से उनका कैमरा ले लिया और मंच से ही फ़ोटो खींचने का पोज देने लगे। बीच-बीच मे कैमरामैन उन्हें फोटोग्राफी के गुर भी सीखा रहे थे। मंच पर वे रिलैक्स मुद्रा में तकिया के सहारे आराम फरमाते रहे।

यह आयोजन जनशक्ति यात्रा के अंतर्गत हो रहा है। इस दौरान जनशक्ति परिषद के तहत सदस्यता अभियान भी चलाया जा रहा है। बिहटा में मजदूर दिवस के दिन से इस यात्रा की शुरुआत हुई थी, जो आज मुजफ्फरपुर पहुंची है। बता दें कि 1 मई को बिहटा में उन्होंने मजदूर दिवस मनाया था। वहां किसानों और मजदूरों को सम्मानित किया था। उसमें कई महिलाएं भी शामिल थी। एक दलित के घर जाकर रोटी, भुजिया और प्याज भी खाया था।

सभा को संबोधित करते तेज प्रताप।
सभा को संबोधित करते तेज प्रताप।

पीला-हरा गमछा पहनने का मतलब समझाया

तेजप्रताप ने इस मौके पर पीला-हरा रंग का गमछा और इसी रंग का टोपी पहना है। एक गमछे में दो रंग है, जिसे दिखाते हुए कहा कि गमछा में पीला रंग का मतलब सूर्य जब निकलता है तो इसी रंग का रहता है। और हरा रंग का मतलब है हमारी हरी-भरी धरती। इसी धरती मां को बचाना है।

उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद जी के सोच की गरीब गुरबा को आगे कैसे लाना है । इसपर विचार कर रहे हैं। बिहार में शिक्षा की हालत बदतर है। बिहार में लोग अगर सम्पूर्ण रूप से शिक्षित हो जाएंगे तो सब समस्या दूर हो जाएगी। किसान भाइयों ने दिल्ली में किस तरह जंतर मंत्र पर प्रदर्शन किया। फांसी लगाने का काम किया था। सरकार PMCH की बिल्डिंग को गिरा रही है। महिला जो उसमें पढ़ने आती है, वह गयी बोलने तो बोला कि अलग रहने के लिए व्यवस्था की जाएगी। लेकिन, कुछ नहीं दिया। कोरोना काल मे डॉक्टर नर्स ने अपने घर परिवार का प्रवाह किये बिना वे अपना कर्तव्य निभा रहा है। उनसे बड़ा कोई योद्धा नहीं है।

पटना में महिलाओं के साथ बर्बरता की गई। RSS से जो बिके हुए मीडिया है। उन्होने कुछ नहीं दिखाया। हमने अपने फेसबुक लाइव से पूरा अत्याचार दिखाया। पुरुष पुलिस बल महिलाओं के कक्ष में घुस गए। बिना महिला सिपाहियों के बर्बता की गई। बिना घुस दिए थाना-कचहरी में काम नहीं होता है। घुस नहीं दोगे तो लाठी खाओ। जेल जाओ। वृद्धा पेंशन चार सौ रुपये क्यो दे रही है ये सरकार। जबकि दूसरे स्टेट में 4000 रुपये है। यहां क्यों कम है। क्योंकि सरकार घोटाला कर गयी। सृजन घोटाला, बालिका गृह को भी याद कर मंच से हुंकार भरी।

विवादों के बीच मां राबड़ी देवी से लिया आशीर्वाद

तेज प्रताप यादव अक्सर अपने बयानबाजी को लेकर सुर्खियों में रहते हैं। वे अक्सर कहते हैं कि पिता लालू प्रसाद यादव, तेजस्वी को और मां राबड़ी देवी उन्हें ज़्यादा प्यार करती है। आज उन्होंने सोशल मीडिया पर मां राबड़ी देवी से आशीर्वाद लेते हुए फोटो शेयर किया है। लिखा है- ' एक शब्द या एक लाख, या लिख दूं तुझपे ग्रंथ भले, तेरी पूर्ण व्याख्या नामुमकिन मां, तेरी कोख में कृष्ण और राम पले। हैप्पा मदर्स डे !' हाल में भी वे विवादों से घिरे रहे हैं।

हाल में ही पटना में एक यूटूबर से उनका विवाद हुआ था। इसका वीडियो भी सामने आया था। इसके अलावा राजद कार्यकर्ता ने उनपर पिटाई करने का आरोप लगाया था। मामला खूब सुर्खियों में रहा था। तेजस्वी को बीच बचाव में आना पड़ा था। तेजप्रताप अक्सर इन्हीं कारणों से सुर्खियों में रहते हैं।

मदर्स डे; राबड़ी देवी के दोनों बेटों ने लिया आशीर्वाद:तेजस्वी ने तिलक लगवाते, तेजप्रताप ने चरण छूते फोटो किया शेयर